मुंगेर के बरियारपुर में बहुजन संसद का आयोजन, 2024 में भाजपा को शिकस्त देने का संकल्प

मुंगेर के बरियारपुर में बहुजन संसद का आयोजन, 2024 में भाजपा को शिकस्त देने का संकल्प

बरियारपुर (मुंगेर) : सामाजिक न्याय आंदोलन, बिहार के बैनर तले मुंगेर जिले के बरियारपुर के सीबीएलके इंटर कॉलेज परिसर में रविवार को बहुजन संसद का आयोजन किया गया। इस आयोजन में मुख्य वक्ता चर्चित बहुजन बुद्धिजीवी डॉ विलक्षण रविदास ने कहा कि मनुवादी शक्तियां अल्पसंख्या में हैं। उनके विचार बहुसंख्यक बहुजन समाज विरोधी हैं, लेकिन वे अपने संविधान व लोकतंत्र विरोधी विचारों को स्थापित कर बहुसंख्या पर राज कर रहे हैं। बहुजनों को साहस के साथ मनुवादी विचारों का पर्दाफाश करना होगा। महात्मा फुले, अंबेडकर सहित अन्य बहुजन नायकों के सच्चे व ताकतवर विचारों को समाज में फैलाना होगा। देश को प्रगति व विकास के रास्ते पर ले जाने की ताकत बहुजन नायकों के विचारों में ही है। बहुजन नायकों की विरासत को बुलंद करते हुए आज संविधान व लोकतंत्र बचाने के लिए व्यापक एकजुटता व अधिकतम ताकत से खड़ा होना होगा।

कार्यक्रम का संचालन करते विनय कुमार सिंह और राजेश कुमार ने कहा कि बिहार में जाति आधारित गणना पर पटना हाई कोर्ट द्वारा रोक लगाना दुर्भाग्यपूर्ण है। जाति को गिनने और सच्चाई सामने लाने से मनुवादी शक्तियां घबराती हैं। केंद्र सरकार को भी जातिवार जनगणना कराना चाहिए, ताकि ठोस आंकड़ों व तथ्यों के आधार पर खासतौर पर ओबीसी के लिए सामाजिक न्याय के लिए ठोस नीतियां व कार्यक्रम बनाए जाएं, लेकिन केंद्र सरकार जातिवार जनगणना नहीं करा रही है।

पूर्व विधायक केडी यादव और सामाजिक न्याय आंदोलन, बिहार के रिंकु यादव ने कहा कि बहुजन समाज की पहलकदमी, मुद्दों पर एकजुटता व लोकतांत्रिक दावेदारी को आगे बढ़ाकर ही भाजपा को निर्णायक चोट दी जा सकती है। विपक्ष के पीछे खड़ा होकर तालियां पीटने से भाजपा नहीं हारेगी। बहुजन समाज को जगाने व जोड़ने की मुहिम को आगे बढ़ाते हुए 2024 में भाजपा को हराने के लिए अधिकतम ताकत लगाना होगा।

अध्यक्षीय संबोधन में कमलेश्वरी प्रसाद यादव ने कहा कि अबाध निजीकरण के जरिए पूंजीपतियों के हाथों संपत्ति का केन्द्रीकरण और बढ़ती आर्थिक असमानता व गरीबी के बीच बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, सब्सिडी में कटौती, श्रम कानूनों में बदलाव अंततः बहुजनों की बेदखली-बदहाली को बढ़ा रहा है।

यह भी पढ़ें बासुकीनाथ धाम में राजकीय श्रावणी मेला का उद्घाटन पेयजल व स्वच्छता मंत्री ने किया

प्रारंभिक वक्तव्य में गौतम कुमार प्रीतम ने कहा कि मनुवादी,पूंजीवादी शक्तियों को संविधान व लोकतंत्र की जरूरत नहीं है। संविधान व लोकतंत्र की जरूरत बहुजन समाज को है। आज लड़ाई भाजपा-आरएसएस और बहुजन समाज के बीच है।

यह भी पढ़ें अपना अधिकार मांगेगा थीम पर झारोटेफ का 18 जुलाई से होगा कार्यक्रम शुरू

असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ अभय कुमार और ड चंदन कुमार ने कहा कि नई शिक्षा नीति – 2020 के जरिए सरकारी शिक्षा को बर्बाद करने और स्कूल-कॉलेजों को बंद करने की साजिश आगे बढ़ रही है। यह एससी-एसटी व ओबीसी के लिए फिर से शिक्षा का दरवाजा बंद करने की साजिश है।

यह भी पढ़ें रवि प्रकाश: कैंसर से लड़ता, मेडिकल साइंस में इतिहास रचता एक शख्स

पटना विश्वविद्यालय के छात्र नेता गौतम आनंद और राजा अभीर ने कहा कि आजादी के बाद संविधान को जमीन पर उतारते हुए सामाजिक, आर्थिक गैरबराबरी को मिटाने की दिशा में ईमानदारी से काम नहीं हुआ। लोकतंत्र की बुनियाद को मजबूत करने का काम नहीं हुआ। इसलिए फिर से मनुवादी शक्तियां पुराने दौर को वापस लाने के लिए आगे बढ़ रही हैं। बहुजन समाज को भूमिका लेनी होगी। आगे आना होगा।

बहुजन संसद को प्रमुख तौर पर सहायक प्रोफेसर डॉ जैनूल शम्सी, डा यादवेंदु रणधीर, बरियारपुर मुखिया संघ के अध्यक्ष अशोक कुमार मंडल, अंशू कुमारी, बिहार फुले.अंबेडकर युवा मंच के मणि कुमार अकेला ,राजकमल, शशिकांत कुमार, शशिशेखर कुमार, त्रिलोकी नारायण शर्मा, संजय कुमार, प्रेम कुमार, अमन रंजन यादव आदि ने संबोधित किया। स्वागत भाषण सुमन कुमार सिंह ने दिया।

Edited By: Samridh Jharkhand

Latest News

बासुकीनाथ धाम में राजकीय श्रावणी मेला का उद्घाटन पेयजल व स्वच्छता मंत्री ने किया बासुकीनाथ धाम में राजकीय श्रावणी मेला का उद्घाटन पेयजल व स्वच्छता मंत्री ने किया
चाय मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी के मुद्दे पर पीबीसीएमएस की याचिका पर होगी सुनवाई
रवि प्रकाश: कैंसर से लड़ता, मेडिकल साइंस में इतिहास रचता एक शख्स
कोडरमा के दो हिंदू परिवार सौ वर्षों से निकाल रहे ताजिया
अपना अधिकार मांगेगा थीम पर झारोटेफ का 18 जुलाई से होगा कार्यक्रम शुरू
बिहार में पॉपलर की खेती को बढावा देने के लिए किसानों को यमुनानगर मंडी का परिभ्रमण कराने की मांग
अनुबंध कर्मियों ने हेमंत सरकार को दी आंदोलन की चेतावनी, समान काम का समान वेतन सिद्धांत लागू करने की मांग 
देश के कई हिस्सों में भारी बारिश ने बढाई परेशानी, गोंडा में बाढ जैसे हालात, राहत कार्य जारी
विदेशी ताकतें भाजपा को हराने के लिये हर स्तर से लगी है: गीता कोड़ा
पांच दिवसीय गैर आवासीय विद्यालय नेतृत्व उन्मुखीकरण कार्यशाला
ईचा डैम रद्द करने को लेकर संघ ने मंझगांव विधायक को सौंपा मांग पत्र
ॐ ह्रीं विपत्तारिणी दुर्गायै नम: के मंत्रोच्चार से गुंजायमान हुआ शहर