गृहमंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे पर संसद में दिया बयान, बोले सरकार पूरी तरह मुस्तैद

नयी दिल्ली : गृहमंत्री अमित शाह लोकसभा में उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार, सात फरवरी 2021 को ग्लेशियर टूटने से हुए हादसे पर बयान दे रहे हैं। उन्हें इस लिंक पर आप लाइव सुन सकते हैं…

 

गृह अमित शाह ने कहा कि उत्तराखंड के चमोली जिले में हिमस्खलन की घटना पर प्रधानमंत्री के नेतृत्व में केंद्र सरकार 24 घंटेसात दिन उच्चतम स्तर पर निगरानी कर रही है। गृह मंत्रालय के दोनों कंट्रोल रूम द्वारा स्थिति पर चौबीसों घंटे नजर रखी जा रही है और राज्य को हर संभव सहायता मुहैया कराई जा रही है।

उन्होंने कहा कि आपरेशन में एयरफोस के पांच विमान लगाए गए हैं। जोशीमठ में आर्मी का एक कंट्रोल राहत एवं बचाव के लिए स्थापित किया गया है।

उन्होंने कहा कि आइटीबीपी ने वहां अपना कंट्रोल रूप में स्थापित किया है और उनके 450 जवान, सभी जरूरी साजो सामान के साथ घटनास्थल पर राहत एवं बचाव अभियान में लगे हुए हैं। एनडीआरएफ की पांच टीमें घटनास्थल पर पहुंची हैं और उनके सभी जवान राहत एवं बचाव कार्य में लगे हुए हैं।

अमित शाह ने कहा कि आर्मी की आठ टीमें, जिसमें इटीएफ भी शामिल है व नेवी की एक गोताखोर टीम व आइएएफ के पांच हेलीकाॅप्टरों को भी बचाव कार्य में लगाया गया है। एक मेडिकल काॅलम व दो एंबुलेंस भी घटनास्थल पर तैनात है। टनल में फंसे लोगों को बहार निकालने के लिए विपरीत परिस्थिति में भी लगातार राहत व बचाव कार्य जारी है।

अलकनंदा व गंगा बेसिन हरिद्वार में केंद्रीय जल आयोग में कार्यरत कर्मचारियों को अलर्ट पर रखा गया है। सशस्त्र सीमा बल की एक टीम जो हिमस्खलन की निगरानी करती है, घटनास्थल पर पहुंच चुकी है। एनटीपीसी के सीएमडी भी घटनास्थल पर मौजूद हैं।

यह भी देखें