Breaking News

हाथरस कांड पर स्मृति ईरानी ने पांच दिन बाद दिया बयान, कांग्रेस व राहुल गांधी पर निशाना

स्मृति ईरानी ने हाथरस गैंगरेप केस पर राहुल गांधी व कांग्रेस के स्टैंड की आलोचना की.

Union Minister Smriti Irani syas on Rahul Gandhi’s scheduled visit to Hathras People understand that their visit to Hathras is for their politics & not for justice to the victim

नयी दिल्ली : हाथरस गैंगरेप व मर्डर केस पर भाजपा नेता व केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने पीड़ित लड़की की मौत के पांच दिनों बाद शनिवार को बयान दिया. स्मृति ईरानी ने कहा कि जनता कांग्रेस के टैक्टिस को लेकर सतर्क है. वे हाथरस पीड़ित परिवार के न्याय के लिए नहीं बल्कि अपनी राजनीति के लिए जा रहे थे.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि जनता यह समझती है कि उनकी हाथरस की ओर कूच राजनीति के लिए है, न्याय के लिए नहीं.

स्मृति ईरानी ने कहा कि वे अपनी संवैधानिक मर्यादा के चलते किसी प्रदेश के मामले में दखल नहीं देती हैं. उन्होंने कहा कि लेकिन हाथरस मामले में उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की. मुख्यमंत्री ने एसआइटी का गठन किया है. कल एसपी के खिलाफ कार्रवाई हुई है और एसआइटी की रिपोर्ट आने दीजिए. स्मृति ईरानी ने कहा कि उसके बाद जिन लोगों ने पीड़िता को न्याय नहीं मिल पाए इसकी साजिश रची थी उनके खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त कार्रवाई करेंगे.


स्मृति ईरानी ने राजस्थान का संदर्भ देते हुए कहा कि राहुल गांधी को वहां के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत को भी काॅल करना चाहिए.

ईरानी ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब से उन्होंने अमेठी की ओर कूच किया है, तब से वे यह जानती हैं कि जीवन भर उनके निशाने पर रहेंगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र में मुझे अपने देश के खिलाफ बयान देना चाहिए, मैं वहां मंत्री नहीं बल्कि भारतीय के रूप में गयी थी. ईरानी ने कहा कि कांग्रेस चाहती थी कि मैं अपने देश के खिलाफ बोलूं, लेकिन मेरी कल्पना में यह राष्ट्रद्रोह से कम नहीं है.

मालूम हो कि 29 सितंबर को हाथरस की बलात्कार पीड़िता की मौत के बाद से महिला मामलों की मंत्री स्मृति ईरानी अपनी चुप्पी को लेकर विरोधियों के निशाने पर हैं. उनके खिलाफ ट्विटर पर वेअर इज स्मृति ईरानी भी हैशटैग भी र्टेंड कर गया.