Trafficking in Jharkhand

रांची : झारखंड में मानव तस्करी के अत्यधिक मामलों के मद्देनजर सभी जिलों में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट खोलने की तैयारी है। इसका उद्देश्य बच्चियों, महिलाओं व नाबालिगों की तस्करी को रोकना है। झारखंड में फिलहाल 12 जिलों के अलग-अलग थाने में मानव तस्करी निरोधी यूनिट कार्यरत है, जो राज्य के रांची, खूंटी, सिमडेगा, पलामू,

यूनिसेफ ने मानव तस्करी पर किया वर्चुअल परिचर्चा का आयोजन, विधायकों ने लिया हिस्सा रांची : यूनिसेफ – झारखंड ने पॉलिसी डेवलपमेंट एडवाइजरी ग्रुप (पीडीएजी) के सहयोग से राज्य में लड़कियों एवं महिलाओं की तस्करी की रोकथाम को लेकर आज वर्चुअल सेमिनार का आयोजन किया। -हजयारखंड की समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास विभाग की

ये लड़कियां पहली बार राज्य से बाहर गयीं थी, उन्हें सिलाई कढाई का काम दिलाने के नाम पर ले जाया गया और मछली पैकिंग का काम करवाया जाने लगा रांची : रांची जिले के अनगड़ा थाने की पुलिस ने 20  लड़कियों को गुजरात के सूरत से रेस्क्यू कर एक मिसाल पेश की है. इनमें से

झारखंड में मानव तस्करी के अधिक मामलों की वजह से लोग अधिक चिंतित थे दुमका : सोशल मीडिया सिर्फ महानगरों व बड़े शहरों में ही नहीं सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भी बड़ा असरकारी साबित हो रहा है. सोशल मीडिया की वजह से शुक्रवार को एक 14 वर्षीय गुमशुदा बच्ची सानिया सोरेन अपने परिजनों को मिल

ब्रजेश कुमार मिश्र    कठिन परिस्थिति में जीने वाले बच्चों (चाहे वे देखभाल और संरक्षण के जरुरतमंद हों या अपराध में लिप्त पाए जाते हों) की देखभाल एवं उनके समुचित पुनर्वास हेतु देश में एक महत्वपूर्ण कानून है- किशोर न्याय कानून जिसे आम तौर पर जेजे एक्ट के रूप में जाना जाता है. इस एक्ट