India

भारत और चीन सीमा पर तनाव अभी बरकरार ही है और भारत- पाकिस्तान के बीच भी गोला-बारूद चल ही रहे हैं। यानी भारत फिलहाल अपने दो घोर शत्रु देशों का सरहद पर एक साथ प्रतिदिन ही सामना कर रहा है। ये दोनों देश बार- बार साबित कर चुके हैं कि ये सुधरने वाले तो हरगिज

अब हरेक भारतीय को मालूम चल चुका है कि कमला हैरिस कौन है? उनका भारत से किस तरह का रिश्ता है और अमेरिका के आगामी चुनाव में वे किस पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हैं। दरअसल कमला हैरिस बन भी सकती हैं अमेरिका की उपराष्ट्रपति। उन्हें डेमोक्रेटिक पार्टी ने अपना उपराष्ट्रपति पद का

यह मत सोचें कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण सरकारी कामकाज और भावी योजनाओं पर स्थायी रोक लग गई है। ऐसा बिलकुल नहीं है। सच्चाई तो यह है कि सरकार के तमाम विभाग पहले की भांति ही सक्रिय हैं। सऱकार का इस समय एक फोकस भगवान बुद्ध को मानने वाले देशों से पर्यटकों को भारत

दुनिया के 10 में नौ लोग प्रदूषित हवा में ले रहे सांस  दुनिया की आधी से अधिक आबादी वायु गुणवत्ता पर किसी आधिकारिक सरकारी डेटा से वंचित है. यह स्थिति तब है, जब विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़ दुनिया में 10 में से नौ लोग प्रदूषित हवा में सांस ले रहे हैं। न सिर्फ़ पर्यावरण

नयी दिल्ली : भारत ने 15 जून के गलवान घाटी झड़प के बाद आज चीन पर बड़ी डिजिटल गाज गिरायी है. भारत सरकार ने चीन के 59 लोकप्रिय एप को सुरक्षा कारणों से बैन कर दिया है. जिसमें टिकटाॅक, यूसी ब्राउजर जैसे लोकप्रिय एप भी हैं. इस फैसले के पीछे इनके भारत की सुरक्षा, संप्रभुता,

आरके सिन्हा भारत के दोनों शत्रु यानी चीन और पाकिस्तान अपनी  शैतानियों  से बाज नहीं आ रहे हैं। वैश्विक महामारी कोविड 19 से जब सारी दुनिया एक जुट होकर लड़ रही है, तब ये दोनों भारत की सरहदों पर अपना गंदा खेल खेलने में लगे हुए हैं। यह कहना भी सही ही होगा कि ये

आरके सिन्हा वैश्विक महामारी कोविड19 के कारण सारी दुनिया के हाथ-पैर फूल गए हैं। धरती पर भय और त्रात्रि-त्राहि के हालात बन चुके हैं, तब भारत के लिए एक अवसर बन रहा है। अवसर यह है कि भारत दुनिया का मैन्यूफैक्चरिंग हब बन सकता है। भारत चाहे तो चीन के खिलाफ दुनिया की नफरत का

आरके सिन्हा एक तरफ तो पूरा विश्व कोरोना से दिन-रात लड़ाई लड़ रहा है तो दूसरी ओर अमेरिका और चीन शीतयुद्ध का रुख अख्तियार कर रहे हैं। सबसे पहले डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन के साथ पक्षपात और चीन की तरफदारी का आरोप लगाकर विश्व स्वास्थ्य संगठन को आर्थिक सहायता देना बंद कर दिया। विश्व स्वास्थ्य

आरके सिन्हा कोरोना वायरस के असर से अब संसार का कोई भी देश बचा नहीं है। कोरोना वायरस ने सच में सारी दुनिया को घुटनों पर लाकर खड़ा कर दिया है। हर जगह कोरोना से रोज हजारों मौतें हो रही हैं। दुनिया इस वायरस के असर के कारण डरी-सहमी है। पर इसका एक दूसरा पहलू

आज महामारी के रूप में कोरोना ने पूरी दुनिया में अपना आतंक मचाया हुआ है, चीन के बुहान शहर से शुरू हो कर आज दुनिया के लगभग सभी देशों में प्रवेश कर चुका है और लोगों को संक्रमित कर रहा है, बड़े से बड़ा देश भी आज इस अदृश्य बीमारी के वजह से परेशान है,