Breaking News

Energy

सोलर एनर्जी के क्षेत्र में महिलाओं के लिए कमाई के अवसरों को बनाने की एक पहल को शुरू करते हुए केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट मामलों की मंत्री, निर्मला सीतारमण ने कहा “अब देश का ध्यान महिला विकास से हटकर महिलाओं की अगुवाई में विकास पर केंद्रित हो गया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के

साल 2022 ख़त्म होने को आ गया मगर अब भी वैश्विक स्तर पर कार्बन एमिशन रिकॉर्ड लेवेल पर है। इस बात की जानकारी मिलती है ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट साइंस टीम से, जिसका कहना है कि वर्ष 2022 में वैश्विक स्तर पर कार्बन का एमिशन रिकॉर्ड ऊंचाई पर बना रहा। इसमें गिरावट के कोई निशान नहीं

राहुल सिंह नवंबर महीने की शुरुआती ठंड की एक सुबह 57 साल के लालजी रजवार बोकारो थर्मल पॉवर प्लांट के पश्चिम में छिलका पुल के नीचे बेहद प्रदूषित बोकारो नदी में मछली पकड़ने के लिए जाल लगाते हुए कहते हैं – यह नदी लुगु पहाड़ से निकलती है, लेकिन इसमें आसपास की मानव बसावटों-कॉलोनियों का

वैश्विक गठबंधन आर्थिक, ऊर्जा सुरक्षा और जलवायु चुनौतियों से निपटते हुए लक्ष्यों को कार्रवाई में बदलने और रिन्यूएबल ऊर्जा कार्यान्वयन अंतर को पाटने में निभाएगा प्रमुख भूमिका अपतटीय पवन ऊर्जा को बढ़ावा देते हुए जलवायु और ऊर्जा सुरक्षा संकट से निपटने के लिए सीओपी27 में बेल्जियम, कोलंबिया, जर्मनी, आयरलैंड, जापान, नीदरलैंड, नॉर्वे, यूके, यूएस सहित

तमाम वैश्विक संस्थानों और सरकारों के लिए नेट ज़ीरो लक्ष्य हासिल करने को सुगम बनाते हुए इंटेरनैशनल स्टैंडर्ड्ज ऑर्गनाइज़ेशन (आईएसओ) ने आज बहुप्रतीक्षित नेट जीरो दिशानिर्देश प्रकाशित किए हैं। जो बात इस घटनाक्रम को खास बनाती है वो है कि 1,200 से अधिक संगठन और विशेषज्ञ केवल तीन महीनों में एक आम सहमति वाली प्रक्रिया

वर्ष 2022 की पहली छमाही में ही जीवाश्म ईंधन की लागत से 34 बिलियन अमेरिकी डॉलर का खर्च बचाया गया एंबर, सेंटर फॉर रिसर्च ऑन एनर्जी एंड क्लीन एयर (सीआरईए) और इंस्टीट्यूट फॉर एनर्जी इकोनॉमिक्स एंड फाइनेंशियल एनालिसिस (आईईईएफए) द्वारा आज प्रकाशित एक रिपोर्ट में पाया गया है कि सौर ऊर्जा उत्पादन ने सात एशियाई

विकासित देश इस कोशिश में हैं कि भारत उनके द्वारा सुझाए गए जस्ट एनर्जी ट्रांजिशन पार्टनरशिप मॉडल को अपना ले और उस पर अपने यहां अमल करे। हालांकि भारत इसको लेकर सतर्क है। कुछ सप्ताह पहले इस आशय की मीडिया रिपोर्ट आ चुकी है कि भारत के ऊर्जा मंत्रालय ने जी – 7 देशों के

कुछ ही दिनों में दुनिया के नीति निर्माता ईजिप्ट के शर्म अल-शेख में संयुक्त राष्ट्र के अगले जलवायु सम्मेलन, सीओपी 27, में मिल कर पूरी पृथ्वी पर जलवायु कार्यवाही के लिए कुछ अहम फैसले लेंगे। और ठीक उससे पहले पिछले कुछ समय से G7 और उसके सहयोगियों ने वियतनाम, इंडोनेशिया और भारत को कोयले से

भारत में कोयला खदानों की कम समय तक कार्यशीलता के कारण डिकमिशनिंग का बढ जाता है खर्च   तापमान वृद्धि को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने के लिए 2040 तक कोयला का वैश्विक उपयोग बंद करना व कोयला बिजली संयंत्रों की संचालन अवधि को कम करना जरूरी रांची : अगले सप्ताह शर्म अल-शेख में

आईईए के वर्ल्‍ड एनर्जी आउटलुक (World Energy Outlook) के ताजा संस्‍करण के मुताबिक युक्रेन पर रूस की सैन्‍य कार्रवाई के कारण उत्‍पन्‍न हुआ वैश्विक ऊर्जा संकट गहरे और लम्‍बे वक्‍त तक बरकरार रहने वाले बदलावों की वजह बन रहा है। इन परिवर्तनों में ऊर्जा प्रणाली में अधिक टिकाऊ और सुरक्षित रूपांतरण को तेज करने की