Climate Trends

औद्योगिक और आर्थिंक रूप से देश के सबसे महत्वपूर्ण राज्य महाराष्‍ट्र के 18 नॉन अटेनमेंट शहरों के लिये प्रदूषण से निपटने के उद्देश्‍य से बनायी गयी कार्ययोजनाओं से सम्‍बन्धित विभिन्‍न जानकारियों को आम लोगों तक आसानी से पहुंचाने के मकसद से क्‍लाइमेट ट्रेंड्स और रेस्‍पाइरर लिविंग साइंसेज द्वारा बनाये गये एक डैशबोर्ड की आज शुरुआत की गयी।

ग्‍लासगो में हाल में संपन्न सीओपी26 में निर्धारित लक्ष्‍य और व्‍यक्‍त संकल्‍पबद्धताओं की पूर्ति की कसौटी पर भारत अलग तरह की चुनौतियों को सामना कर रहा है। कोयले के चलन को चरणबद्ध ढंग से खत्‍म करने की राह में खड़ी बाजार की शक्तियां, दुरूह वित्‍तीय स्थितियां और कई अन्‍य कारणों से भारत के लिए सूरतेहाल अलग नजर आ रही है।

विशेषज्ञों का मानना है कि दुनिया के ज्‍यादातर देश वायु गुणवत्‍ता सम्‍बन्‍धी पुराने मानकों का ही पालन करने में नाकाम रहे हैं। ऐसे में विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा वायु गुणवत्‍ता के सम्‍बन्‍ध में जारी नये मानकों का पालन बहुत कड़ी चुनौती है। भारत जैसे देश को अगर इन मानकों पर खरा उतरना है तो उसे बहुक्षेत्रीय रवैया अपनाते हुए अधिक सुगठित, सुव्‍यवस्थित और समयबद्ध कदम उठाने होंगे। साथ ही मौजूदा नीतियों में जरूरी बदलाव करते हुए उनके प्रभावी क्रियान्‍वयन पर भी ध्‍यान देना होगा।

एनर्जी ट्रांज़िशन या ऊर्जा रूपांतरण का अर्थ सिर्फ बिजली व्‍यवस्‍था के स्‍वरूप में आमूल-चूल बदलावों से नहीं है, बल्कि यह एक बहुत व्‍यापक संदर्भ है। विशेषज्ञों का मानना है कि ऊर्जा रूपांतरण के लिये ऐसे बहुत से जटिल सवालों के जवाब ढूंढने होंगे, जो सीधे तौर पर हमारी सामाजिक और आर्थिक व्‍यवस्‍था से जुड़े हैं।

  With less than 60 days to COP26 (United Nations Climate Change Conference), countries around the world are gearing up to be more ambitious on their climate pledges. India may not commit to the net zero emissio timeline of mid-century but it is expected to enhance the target of climate action. 

भारत के लो-कार्बन ट्रांजिशन के बड़े पैमाने को अग्रिम पूंजी निवेश की आवश्यकता होगी। इस तरह समर्पित फंडिंग का उपयोग नई ग्रीन ऊर्जा, उद्योग और शहरी बुनियादी ढांचे के निर्माण और कार्बन-गहन परियोजनाओं में लॉक-इन से बचने के लिए किया जा सकता है। इन नई फंडिंग पहलों को उत्सर्जन को कम करने और आजीविका का समर्थन करने की बड़ी क्षमता रखने वाले लेकिन वित्त तक पहुंचने की कम क्षमता रखने वाले विकेन्द्रीकृत ग्रामीण ऊर्जा और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) में निवेश को भी प्राथमिकता देनी चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में घोषणा की है कि भारत में रेलवे का विद्युतीकरण तेज़ी से आगे बढ़ रहा है, और भारतीय रेलवे के लिए लक्ष्य 2030 तक नेट-ज़ीरो कार्बन उत्सर्जक बनना है। विद्युतीकरण, ऊर्जा दक्षता और रिन्यूएबल ऊर्जा की तरफ़ स्विच का एक मिश्रण इस लक्ष्य को सक्षम करने के लिए आवश्यक है।

ताज़ा सर्वे के मुताबिक पर्यावरण संरक्षण के प्रति जिम्मेदारी और आधुनिक टेक्नोलॉजी को लेकर उत्साह इलेक्ट्रिक वाहनों के बारे में सोचने के दो प्रमुख कारण हैं   भारत समेत पूरी दुनिया में इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है मगर विशेषज्ञों का मानना है कि इस सकारात्‍मक पहलू के बीच कई बुनियादी और व्‍यावहारिक

अन्य प्रमुख शहरों के विपरीत कोलकाता में 2019 से 2021 के बीच, मार्च से मई तक, वायु गुणवत्ता में दिखा सुधार पिछले साल से कोविड की मार झेल रहे देश में अगर कुछ अच्छा हुआ तो वो था आसमान का कुछ साफ़ होना और प्रदूषण के स्तर के कम होने का आभास। आभास इसलिए क्योंकि