Breaking News

air quality

वर्तमान वायु प्रदूषण के स्वीकार्य स्तरों को नये दिशा-निर्देशों में प्रस्तावित स्तरों तक कम किया जाए तो दुनिया में PM₂.₅ से संबंधित लगभग 80% मौतों को टाला जा सकता है। साल 2005 के बाद पहली बार विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपने वायु गुणवत्ता दिशानिर्देशों में संशोधन कर नये दिशानिर्देश जारी किये हैं। यह वायु

एक नए अध्ययन, जिसमें जलवायु, हवा की गुणवत्ता और कृषि के बीच अंतर संबंधों तथा जन स्वास्थ्य पर उन सभी के संयुक्त प्रभाव को खंगालने के लिए शोध किया गया है, से पता चलता है कि वायु गुणवत्ता का प्रभाव हमारी कृषि पर भी पड़ता है और इसी क्रम में हमारे स्वास्थ्य पर भी इसका

क्लीन एयर फंड के विश्लेषण से पता चलता है कि पिछले 30 वर्षों में वायु गुणवत्ता से संबंधित मौतों में 153% की वृद्धि होने के बावजूद, वायु प्रदूषण को कम करने के लिए सरकारी विकास सहायता का 1% से भी कम मिलता है।

दक्षिण एशिया में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के अवसरों पर बातचीत के लिए इंटरनेशनल सेंटर फॉर इंटीग्रेटेड माउंटेन डेवलपमेंट (आईसीआईएमओडी) और क्लाइमेट ट्रेंड्स ने एक वेबिनार का आयोजन किया। इसमें विशेषज्ञों ने दक्षिण एशिया में विकराल रूप लेती वायु प्रदूषण की समस्‍या और उसके स्‍वास्‍थ्‍य सम्‍बन्‍धी पहलू की भयावहता को सामने रखा बल्कि उन कारणों को भी जाहिर किया जिनके चलते ये हालात पैदा हुए।

पायलट अध्‍ययन से ज़ाहिर है कि रेगुलेटरी ग्रेड के मॉनिटर्स के साथ लगाये गये कम कीमत के सेंसर ने अपेक्षाकृत 85 प्रतिशत से ज्‍यादा दक्षता से काम किया देश में प्रदूषण की बढ़ती मार के बीच पूरे भारत में इसके स्‍तरों पर नजर रखने के लिये जरूरी नेटवर्क के विस्‍तार की बहुत ज्‍यादा जरूरत महसूस

रांचीः झारखंड में इस बार दीपावली फिकी (Deepawali Fiki) रहेगी. राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्थान (Public place) पर आतिशबाजी नहीं करने का निर्देश दिया है. इस संबंध में आपदा प्रबंधन विभाग ने गाइडलाइन जारी कर दिया है. काली पूजा को लेकर भी राज्य सरकार की ओर से गाइडलाइन जारी किया गया है. गाइडलाइन अनुसार काली