Breaking News

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। 14 मार्च 2022 तक 18वीं विधानसभा का गठन होना है। बीजेपी पिछली बार की तरह इस बार भी मोदी के भरोसे चुनाव मैदान में उतरेगी। 2017 और 2022 के विधान सभा चुनाव में फर्क की कि जाए तो पिछला चुनाव बीजेपी तत्कालीन अखिलेश सरकार की

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधान सभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी आलाकमान ने बिसात बिछाना शुरू कर दी है। कौन होगा मुख्यमंत्री पद का दावेदार ? इस ‘रहस्य’ से पर्दा लगभग हट चुका है। 2022 में होने वाले विधान सभा चुनाव में मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही बीजेपी की तरफ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की सख्ती के बाद भी लव- जेहाद और धर्मांतरण की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। कहीं बरगला कर तो कहीं लालच ओर धोखा देकर लोगों का धर्म परिर्वतन कराया जा रहा है। इसी तरह से करीब एक हजार लोगों का धर्मांतरण कराए जाने की एक

उत्तर प्रदेश में धीरे- धीरे  चुनावी माहौल बनने लगा है। तमाम दलों के नेताओं की यूपी में सक्रियता बढ़ गई है, जो लोकतंत्र में स्वभाविक भी है, इसी से देश को मजबूती मिलती है, लेकिन चिंता तब बढ़ जाती है जब तमाम राजनैतिक दल और उनके नेता एवं समर्थक पर्दे के पीछे से चुनाव जीतने

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव जीतने और विरोधियों पर बढ़त बनाने के लिए तमाम राजनैतिक दलों ने ‘माइंड गेम’ शुरू कर दिया है,: ताकि जनता के बीच उनकी पार्टी की लोकप्रियता का ग्राफ ऊपर और विरोधी दलों का नीचे की ओर खिसकता दिखाई दे। इसके लिए तमाम ‘टोने-टुटकों’ का सहारा लिया जा रहा है।

अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर बने यह इच्छा हर राम भक्त की है। पांच सौ वर्षो के इंतजार के बाद वह शुभ घड़ी आई है जब रामभक्तों की मुराद पूरी होने जा रही है। प्रभु श्रीराम का मंदिर ‘हवा’ में नहीं जमीन पर ही बनेगा, इस लिए जमीन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी

न्यायपालिका से आमजन को काफी उम्मीद रहती है। एक आम आदमी के लिए जब इंसाफ के सभी दरवाजें बंद हो जाते हैं तब अदालत उसके लिए ‘आखिरी रास्ता’ साबित होता है। कई बार तो जब कोई पीड़ित इंसाफ के लिए अदालत की चौखट तक पहुंचने में असहाय- मजबूर नजर आता है तो अदालत स्वयं उसकी

संजय सक्सेना लखनऊ: चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में 25 नवंबर को खाली हो रही राज्यसभा की 10 सीटों के लिए 9 नवंबर को चुनाव कराने का निर्णय लिया है। चुनाव आयोग ने इसका कार्यक्रम जारी कर दिया है। कार्यक्रम के अनुसार 20 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी। 27 तक नामांकन व 28 अक्टूबर को

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की छवि को हाथरस कांड के चलते करारा धक्का लगा है। इसीलिए प्रदेश सरकार ने डैमेज कंट्रोल के लिए कई सख्त कदम उठाए हैं। हाथरस के पुलिस अधीक्षक सहित अन्य कई पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई हुई है तो मामले की जांच सीबीआई से कराने का आदेश देना भी

उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) में एक दलित कन्या के साथ बलात्कार और हत्या से सारा देश गुस्से में है। यह स्वाभाविक ही है। अब उत्तर प्रदेश सरकार से यही अपेक्षा की जाती है कि वह पकड़े गए आरोपियों को वही सजा दिलवाएगी जो निर्भया के दोषियों को मिली थी। लेकिन, इस जघन्य कृत्य में