Breaking News

झारखंड में मंदिरों को खोलने को अनुमति, कक्षा छह से ऊपर के स्कूलों को खोलने की अनुमति

रांची : झारखंड सरकार ने मंगलवार को राज्य के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों को खोलने का निर्णय लिया। इस आशय का निर्णय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में हुई आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक मेें लिया गया।

मालूम हो कि राज्य में लंबे अरसे से मंदिरों को खोलने की मांग की जा रही थी। धार्मिक स्थल आधारित आजीविका अर्जित करने वाले लगातार सरकार से इसको लेकर मांग कर रहे थे। देवघर जहां बाबा बैद्यनाथ धाम ज्योर्तिलिंग स्थित है, वहां के पुरोहित समाज व दुकानदार वर्ग भी इस आशय की मांग कर रहे थे और ज्ञापन सौंपे गए थे। कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने भी पत्र लिख कर मुख्यमंत्री से इस आशय की मांग की थी।

आपदा प्रबंधन प्राधिकार द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार, बाबा बैद्यनाथ धाम, माता छिन्नमस्तिका धाम, इटखोरी स्थित मां भद्रकाली मंदिर, दिवड़ी मंदिर खोलने का निर्णय लिया गया, जहां प्रति घंटे 100 श्रद्धालु दर्शन-पूजन कर सकेंगे। छोटे धार्मिक स्थलों में प्रति घंटा 50 लोग अनुष्ठान में शामिल हो सकेंगे।

साथ ही कक्षा छह से ऊपर की कक्षाओं को खोल दिया जाएगा, जिन स्कूलों में नीचली व ऊपरी दोनों कक्षाएं होंगी, वहां सिर्फ छह से ऊपर के बच्चे विद्यालय जा सकेंगे।

यह भी देखें