Breaking News

बाबाधाम व बासुकीनाथ में नहीं लगेगा श्रावणी मेला, इंटर स्टेट बैठक में लिया गया फैसला

Babadham Mandir File Photo.

देवघर : इस साल भी देवघर और दुमका जिले के बासुकीनाथ में श्रावणी मेले का आयोजन नहीं किया जाएगा। यह लगातार दूसरा साल होगा जब कोरोना महामारी के कारण श्रावणी मेले का आयोजन नहीं होगा। इन दोनों जगहों पर बिहार-झारखंड सहित देश-विदेश से लाखों श्रद्धालु पवित्र श्रावण मास में ज्योर्तिंलिंग व भगवान महादेव पर जलार्पण करने पहुंचते हैं।

कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए बिहार व झारखंड के पुलिस पदाधिकारियों की वर्चुअल बैठक में यह निर्णय लिया गया। संताल परगना के डीआइजी सुदर्शन कुमार मंडल ने इस बात की जानकारी दी है। मालूम हो कि श्रावणी मेले के आयोजन में बिहार के तीन जिले भागलपुर, मुंगेर व बांका एवं झारखंड के दो जिले देवघर व दुमका सीधे तौर पर शामिल होते हैं।

दोनों राज्यों के पुलिस पदाधिकारियों की बैठक में श्रावण मास के दौरान बाबा बैद्यनाथ एवं बाबा बासुकीनाथ का पट बंद रखने और दोनों राज्यों में इस फैसले के व्यापाक प्रचार-प्रसार का निर्णय लिया गया।

बैठक में यह निर्णय लिया गया कि सुलतानगंज में मंदिर बंद रहने की सूचना प्रसारित की जाएगी। देवघर जिला प्रशासन की ओर से बैनर लगाकर इसकी सूचना दी जाएगी और मंदिर न जाने की अपील की जाएगी।

साथ ही दोनों राज्यों की सीमाओं पर चेकपोस्ट बनेंगे जहां कोविड जांच होगी। रेल पुलिस स्टेशनों पर मंदिर न जाने की अपील करेगी। यह भी तय किया गया है कि देवघर शहरी क्षेत्र में 49, मंदिर के चारों ओर चार और शिवगंगा के आसपास चार ड्राप गेट लगेंगे। देवघर में 1000 पुलिस कर्मियों की तैनाती श्रद्धालुओं के संभावित जुटान को रोकने के लिए की गयी है।

यह भी देखें