Breaking News

साहिबगंज में रक्तदान करने वाले संस्थानों के प्रमुखों की बैठक, अधिक से अधिक रक्तदान की अपील

साहिबगंज : साहिबगंज के सिविल सर्जन की अध्यक्षता में रविवार को जिले के विभिन्न शैक्षणिक एवं सामाजिक संगठनों के साथ बैठक की गयी। इस बैठक में रक्तदान करने वाले संस्थान के प्रमुख शामिल हुए, जिसमें मुख्य रूप से सीएस डॉ अरविंद कुमार ने सभी रक्तदाताओं और संस्थाओं को धन्यवाद एवं आभार ज्ञापित किया।

इसमें अपील की गयी कि रक्तदान पखवाड़ा को ध्यान में रखते हुए 17 सितंबर से 1 अक्टूबर 2022 तक विभिन्न सामाजिक एवं शैक्षणिक संस्थान अपने-अपने स्तर पर रक्तदान शिविर लगाएं और अधिक से अधिक लोग रक्तदान करें।

सीएस डॉ अरविंद कुमार ने कहा अस्पताल मेरे लिए मंदिर है और मरीज मेरे भगवान हैं। हम सेवा देने आए हैं।

पल्स पोलियो अभियान में भी इन रक्तदान करने वाले संस्थानों की सहायता लेने की बात कही गयी। सीएस ने कहा कि सभी रक्तदान करने वाले संस्थान अपने निकट के बूथ को गोद लेकर शतप्रतिशत पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने एवं साहिबगंज जिले को पल्स पोलियो से मुक्ति दिलाने की पहल करें। इसके लिए सामूहिक प्रयास की बात कही गयी।

वहीं, मॉडल कॉलेज राजमहल के प्राचार्य डॉ रणजीत कुमार सिंह ने कहा कि जिले में एक-एक रक्तदाता का डेटाबेस बनना चाहिए, रक्त दाताओं का नाम, रक्त दाताओं का रक्त समूह यानी ब्लड ग्रुप एवं मोबाइल नंबर रहना चाहिए। साथ ही उन्होंने लड़कियों को अधिक से अधिक प्रोत्साहित करने की बात कही ।

तीन बार से अधिक महिला या लड़की अगर रक्तदान करें तो उन्हें प्रोत्साहित कर हम प्रेरित करें और इससे प्रेरणा लेकर दूसरे लोग भी रक्तदान में बढ-चढ कर भाग लें।

17 सितंबर से एक अक्तूबर 2022 तक विशेष रक्तदान शिविर अभियान चलाया जाएगा और जिले में अधिक से अधिक लोगों में रक्तदान करने प्रति जागरूकता पैदा हो और महिला हो या पुरुष अपने जीवन में रक्तदान अवश्य करें।

डॉ रणजीत कुमार सिंह ने कहा साल में रक्तदान और वृक्षारोपण जरूर समय-समय पर करते रहना चाहिए ताकि अपना शरीर स्वस्थ हो और पृथ्वी, प्रकृति और पर्यावरण संरक्षण से जीवन में हरियाली और खुशहाल दोनों ही बरकरार रहें।

ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी रक्तदान से डरें नहीं, रक्तदान करें और जिंदगी को बचाएं। इसमें विभिन्न संगठनों ने अपना सुझाव भी दिया।

18 वर्ष से अधिक उम्र के स्वस्थ व्यक्ति 90 दिन के अंतराल में रक्तदान कर सकते हैं। साथ ही अस्पताल में रक्तदान के समय पांच निःशुल्क जांच हो जाती है, जिसमें मुख्य रूप से ब्लड प्रेशर, एचआईवी एड्स व अन्य बीमारी की जांच की जाती है।

 

यह भी देखें