Breaking News

झारखंड : जस्ट ट्रांजिशन टास्क फोर्स की पहली बैठक में स्टेक होल्डर्स के साथ संवाद पर जोर

जस्ट ट्रांजिशन टॉस्क फोर्स की बैठक में उपस्थित एके रस्तोगी व अन्य अधिकारी।

रांची : झारखंड में जस्ट ट्रांजिशन टास्क फोर्स की पहली बैठक में विभिन्न स्टेक होल्डर्स के साथ संवाद बढाने पर जोर दिया गया। टास्क फोर्स के अध्यक्ष रिटायर्ड आइएफएस अधिकारी एके रस्तोगी की अध्यक्षता में सोमवार, 21 नवंबर 2022 को रांची स्थित पलाश भवन में हुई इस बैठक में प्रमुख विभागों के अधिकारियों ने सतत विकास को सुनिश्चित करने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की।

बैठक में इस बात पर सहमति बनी कि सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, थिंक टैंक, अकादमिक जगत, सिविल सोसाइटी संगठनों और समुदायों के साथ कंसल्टेशन सत्र आयोजित किया जाएगा।

बैठक के दौरान एके रस्तोगी ने कहा कि नेट जीरो लक्ष्य के संदर्भ में झारखंड सरकार ने भावी कार्य योजना तैयार करने के लिए बड़ा नीतिगत कदम उठाया है और यह देश में पहला ऐसा कदम है। ध्यान रहे कि झारखंड पहला राज्य है जिसने जस्ट ट्रांजिशन के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है।

एके रस्तोगी ने कहा कि जलवायु समाधान से जुड़े लक्ष्यों और सतत विकास के लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए टास्क फोर्स क्षेत्रवार एवं विषयवार अध्ययन के साथ सभी प्रमुख स्टेक होल्डर्स के साथ नियमित परामर्श-बैठक करेगा और सबको साथ लेकर काम करेगा।

उन्होंने कहा कि टास्क फोर्स का उद्देश्य जीवाष्म ईंधन पर आधारित मॉडल से अलग स्वच्छ ऊर्जा तंत्र का निर्माण करने और हरित अर्थव्यवस्था में बदलाव के प्रभावों का अध्ययन करना, कोयला खदानों के चरणबद्ध रूप से कम होने के समग्र प्रभाव खासकर अर्थव्यवस्था, श्रमिकों, समुदायों पर असर का अध्ययन करना शामिल है। ठोस वित्त पोषण के नए अवसरों की पहचान करना, कार्बन न्यूट्रल इकोनॉकी के क्षेत्र वार नीतिगत हस्तक्षेप की सिफारिश करना आदि शामिल है। टास्क फोर्स कोयला खनन पर प्रत्यक्ष रूप से आश्रित जिलों के लिए एक्शन प्लान भी तैयार करेगा और झारखंड सरकार को वैकल्पिक विकास रोडमैप रिपोर्ट भी पेश करेगा।

यह भी देखें