Breaking News

मंत्री हफीजुल हुसैन ने लिया एशियन फुटबॉल चैंपियनशिप की तैयारियों का जायजा, कहा झारखंड में खेल प्रतिभा की कमी नहीं

टीम की तैयारियों एवं राज्य सरकार की तरफ से खिलाड़ियों को उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं का अवलोकन करने के उद्देश्य से खेल मंत्री, झारंखड सरकार हफीजुल हुसैन अंसारी बुधवार को जमशेदपुर पहुंचे।

रांची: एशियन फुटबॉल चैंपियनशिप (Asian Football Championship) की तैयारी को लेकर राष्ट्रीय महिला फुटबॉल टीम के खिलाड़ियों के लिए जमशेदपुर (Jamshedpur) में अगस्त 2021 से फरवरी 2022 तक 6 महीने लिए प्रशिक्षण एवं कंडिशनिंग कैम्प का आयोजन किया गया है। टीम की तैयारियों एवं राज्य सरकार की तरफ से खिलाड़ियों को उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं का अवलोकन करने के उद्देश्य से खेल मंत्री, झारंखड सरकार हफीजुल हुसैन अंसारी (Hafizul Hussain Ansari) बुधवार को जमशेदपुर पहुंचे।

इस दौरान उन्होंने होटल में खिलाड़ियों से मुलाकात कर उनकी तैयारियों के बारे में जानकारी ली। साथ ही सरकार की तरफ से हर संभव सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही। इस मौके पर खेल मंत्री ने प्रेस वार्ता कर खेल एवं खिलाड़ी के विकास को लेकर झारखंड सरकार की दृष्टि एवं योजनाओं से प्रेस प्रतिनिधियों को अवगत कराया।

हर साल योग्य खिलाड़ियों को नौकरी देने का लक्ष्य

कहा कि इस कैम्प में भाग ले रहे अलग-अलग राज्यों के 30 खिलाड़ी, जिसमें दो खिलाड़ी झारखंड से भी हैं, सभी का झारखंड सरकार एवं खेल विभाग की तरफ से स्वागत करते हैं। उन्होने कहा कि झारखंड में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है। अभी हाल ही में संपन्न ओलंपिक खेलों में झारंखड की बेटियां निक्की प्रधान (Nikki Pradhan), सलीमा टेटे (Salima Tete) ने हॉकी में, वहीं दीपिका कुमारी (Deepika Kumari) ने तीरंदाजी में देश का प्रतिनिधित्व कर पूरे राज्य को गौरवान्वित होने का मौका दिया। खेल मंत्री ने कहा कि राज्य में खेल के विकास को लेकर मुख्यमंत्री काफी संवेदनशील है तथा इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि हॉकी के लिए खूंटी, सिमडेगा व रांची में एस्ट्रो टर्फ ट्रैक लगाने का कार्य किया जा रहा है। साथ ही राज्य सरकार नक्सल प्रभावित क्षेत्र में खेल को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है, ताकि युवा मुख्यधारा से जुड़ें। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार नई खेल नीति पर कार्य कर रही है, हर साल योग्य खिलाड़ियों को नौकरी देने का लक्ष्य है तथा सभी प्रखंड मुख्यालय में स्टेडियम बनाने की भी योजना है। मंत्री हफीजुल हुसैन ने टीम को एशिया कप एवं आगामी सभी टूर्नामेंट में जीत की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अच्छा खेलें एवं कप जीतकर लायें।

खेल विभाग के निदेशक जीशान क़मर (Zeeshan Qamar) ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के प्रयास से झारखंड सरकार एवं AIFF के बीच सफल समझौता हुआ था, जिसके बाद 16 अगस्त से राष्ट्रीय महिला फुटबॉल टीम जमशेदपुर में ट्रेनिंग कैम्प कर रही हैं । सरकार का प्रयास है कि राज्य की बेटियों को ना सिर्फ फुटबॉल में बल्कि सभी खेलों में बढ़ावा दिया जाए। मुख्यमंत्री के खेल के विकास के प्रति सपनों को लेकर खेल विभाग कार्य कर रहा है। हमारा प्रयास है कि इस तरह के कैम्प के आयोजन से स्थानीय खिलाड़ियों को भी राष्ट्रीय स्तर की प्रतिभाओं से रूबरू होने का मौका मिलेगा, जो उनके खेल के विकास में काफी लाभ पहुंचाएगा ।

AIFF के डिप्टी जनरल सेक्रेटरी अभिषेक यादव (Abhishek Yadav) ने बताया कि 17 जनवरी 2022 से देश में आयोजित होने वाले एशियन चैम्पियनशिप के लिए राष्ट्रीय महिला फुटबॉल टीम (National women’s football team) कैम्प कर रही है । उन्होंने कहा कि कोविड 19 की चुनौतियों के बीच टूर्नामेंट की तैयारी के लिए जल्द से जल्द कैम्प का आयोजन जरूरी था। झारखंड सरकार को धन्यवाद देते हुए उन्होने कहा कि काफी अच्छी सुविधा उपलब्ध कराई गई है। साथ ही कोरोना संक्रमण से सुरक्षा को लेकर भी खिलाड़ियों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है ।

टीम के कोच थॉमस डेनेब्री ने कहा कि टीम की तैयारी अच्छी चल रही है, शेष साढ़े चार महीनों में इसे और बेहतर करने का प्रयास होगा। सभी खिलाड़ी काफी प्रतिभावान हैं तथा टूर्नामेंट की तैयारियों को लेकर कड़ी मेहनत कर रही हैं। सभी के प्रदर्शन से संतुष्ट हूँ। भरोसा है कि एशियन चैम्पियनशिप में टीम अच्छा परफॉर्म करेगी ।

टीम की कप्तान लोईतोंबाम आशालता देवी ने कहा कि पहली बार झारंखड आकर अच्छा लगा, सरकार की तरफ से अच्छी सुविधायें उपलब्ध कराई गई हैं। पूरी टीम की तरफ से आश्वस्त करना चाहती हूँ। कि हम अच्छा खेलेंगे तथा अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित करेंगे ।

राष्ट्रीय महिला फुटबॉल टीम में 2 खिलाड़ी झारखंड से, मणिपुर से 10, दिल्ली से 2, तमिलनाडु से 4, 3 हरियाणा, 2 ओड़िशा, 2 रेलवे, गोवा से 2, 1 पंजाब, तेलंगाना से 1 व 1 खिलाड़ी एसएसबी से शामिल हैं ।

यह भी देखें