Breaking News

पटना में संदिग्ध हालत में बुजुर्ग दंपती की हुई मौत तो घर छोड़ कर भाग गए बेटे-बहू

पटना : बिहार के पटना के आलमगंज थाना क्षेत्र के लड्डू अखाड़ा नया गांव मुहल्ले में रहने वाले 70 वर्षीय राजकुमार चौधरी एवं 60 वर्षीय मीना देवी की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गयी, जिसके बाद बेटे और बहू अन्य परिजनों को घटना की सूचना देकर मां-बाप का अंतिम संस्कार किए बिना भाग गए।

पुलिस ने दंपती के शव को नालंदा मेडिकल कॉलेज भेज दिया। थानाध्यक्ष सुधीर कुमार ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है, प्रथमदृष्टया मौत स्वाभावितक लगती है। हालांकि पोर्स्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की वजह पता चल पाएगा।

दंपती की मौत के बाद रिश्तेदारों को सूचना देकर ऑटो चालक बेटा पंकज चौधरी फरार हो गया है। पंकज अपने माता-पिता का इकलौता बेटा है। उसके माता-पिता सब्जी बेचकर गुजारा करते थे।

लोगों ने बताया कि अक्सर मां-बाप व बेटे-बहू में झगड़ा होता था। मोकामा के रहने वाले दामाद अमरजीत व भतीजा रोहित ने बताया कि गायघाट दक्षिणी मोहल्ले में रहने वाले रेणु देवी जो मृतक मीना देवी की बहन हैं, के घर मंगलवार को मीना देवी आयी थी, जिसके बाद बहू अमृता देवी आयी और जबरन अपनी सास को साथ ले गयी। परिजनों के अनुसार, छह महीने पहले ही बेटे को मां-बाप ने जेल से छुड़ाया था।

दामाद अमरजीत ने बताया कि जब यहां आये तो दोनों का शव जमीन पर पड़ा हुआ था और अगरबत्ती जल रही थी। वहीं भतीजा रोहित व दामाद मनोज ने कहा कि एक साथ दौ मौतों पर संदेह हुआ। जब परिजनों ने पुलिस को सूचना देने की बात कही तो बहू अमृता अपनी बेटी को लेकर फरार हो गयी। जबकि बेटा पंकज पहले से ही फरार था।

पुलिस का कहना है कि मृतकों के शव पर किसी तरह का निशान नहीं है। प्रथम दृष्टया लगता है कि पति की स्वाभाविक मौत हुई है, जबकि पत्नी ने सदमे में दम तोड़ दिया।

यह भी देखें