Breaking News

बिहार के खान मंत्री का पीए संसद का फर्जी पास बनवाने और एंट्री करने के अपराध में गिरफ्तार

राज्यसभा चुनाव की तारीखों का एलान, 19 जून को होगा मतदान

फोटो का प्रयोग सिर्फ प्रतीकात्मक उद्देश्य से।

पटना/नयी दिल्ली : फर्जीवाड़े के अजीब मामले देश में सामने आते रहते हैं। देश की सर्वोच्च लोकतांत्रिक संस्था संसद की सुरक्षा भी फर्जीवाड़ों के चपेट में आने से नहीं बचा, जबकि पूर्व में संसद हमले जैसी घटनाएं घटित हो चुकी हैं। बिहार के खान मंत्री जनक राम के दो पीए को दिल्ली पुलिस के क्राइम सेल ने संसद का फर्जी पास मामले में गिरफ्तार किया है।

जनक राम पहले गोपालगंज के सांसद भी रहे हैं। उनके निजी सचिव बबलू आर्या को दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया और फिर उसकी निशानदेही पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच शाखा ने गोपालगंज में छापेमारी की और इंटरनेट कैफे संचालक महेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया। क्राइम ब्रांच ने मंत्री के एक और निजी सचिव ज्योति भूषण को फर्जी पास मामले में गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि ज्योति कुमार भारती नामक एक व्यक्ति के लिए जारी पास का संपादन कर फर्जी पास तैयार किया गया। पुलिस ने इस मामले में ज्योति भूषण भारती को भी हिरासत में रखा है। ज्योति कुमार भारती भी मंत्री जनक राम का पीए रहा है।

यह कार्रवाई गोपालगंज के मौजूदा जदयू सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन की शिकायत पर की गयी। एसपी ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की है। पुलिस ने कहा है कि बबलू आर्या और ज्योति भूषण भारती दोनों मंत्री जनक राम को सचिव रहे हैं। वहीं, मंत्री जनक राम ने कहा कि दोनों को पद से हटा दिया है और इस मामले की जांच में सहयोग कर रहे हैं।

कैफे संचालक महेश कुमार पर आरोप है कि उसने फर्जी पास बनाने के लिए सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन का फर्जी लेटर पैड व मुहर सहित अन्य दस्तावेज तैयार किया। मंत्री के दोनों पीए की गिरफ्तारी दिल्ली में हुई है। बबलू ने कहा है कि वह इस पास के जरिए अपना रौब दिखाना चाहता था और लोगों से उगाही भी करना चाहता था।