Breaking News

मैथेमैटिक्स गुरु आरके श्रीवास्तव ने रवि कुमार दहिया को बताया रियल हीरो,बॉलीवुड बायोपिक बनाने पर कर रहा विचार

समृद्ध डेस्क: टोक्यो ओलंपिक में रवि कुमार दहिया ने रचा इतिहास, बॉलीवुड बायोपिक बनाने पर कर रहा विचार, आरके श्रीवास्तव ने रजत पदक विजेता को बताया रियल हीरो ओलंपिक रजत पदक विजेता रवि दहिया और हमेशा साथ निभाने वाले उनके दोस्तों को आरके श्रीवास्तव ने रियल हीरो बताया. देश के सबसे चर्चित शिक्षकों में से एक बिहार के आरके श्रीवास्तव ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि इतनी शोहरत के बाद भी रवि दहिया का व्यक्तित्व नहीं बदला.

वे आज भी अपने जमीन से जुड़े हैं, ऐसे लोग को हम सिर्फ सफल इंसान नहीं कह सकते बल्कि उनके लिये महान इंसान कहना बेहतर होगा।  लोगों को सीख लेने की जरुरत आरके श्रीवास्तव ने आगे कहा कि रवि दहिया के तरह ही उनके दोस्त भी दिल के अच्छे इंसान हैं.

उनके दोस्त आशीष पहलवान काफी मिलनसार और दिल के काफी अच्छे इंसान हैं. वैसे ही रवि दहिया के सीनियर रेसलर अरुण जी सहित अन्य दो मित्र भी अद्भुत इंसान हैं, बाकी खिलाडियों को भी रवि दहिया और उनके दोस्तों से सीख लेनी चाहिए.  बेहतर व्यक्तित्व के लोग होते है सफल इंसान आरके श्रीवास्तव ने बताया कि सफल इंसान बनना आसान है लेकिन महान इंसान कुछ खास लोग ही बन पाते हैं. आने वाले दिन में यदि रवि दहिया का नाम महान लोगों में लिया जायेगा तो उसमें उनके प्रतिभा का योगदान के साथ- साथ उनके दोस्तों और परिवार का योगदान को भी दुनिया याद करेगी।

दोस्त हो तो ऐसा भविष्य में बॉलीवुड जब भी रवि दहिया की जीवनी पर बायोपिक बनाएंगे तो रवि दहिया तो के साथ- साथ उनके दोस्तों को भी दिखाएगी और लोग उनकी दोस्ती की दलील देंगे। आपको बता दें कि टोक्यो ओलंपिक में रवि कुमार दहिया ने इतिहास रचा था। हरियाणा के नाहरी गांव के रहने वाले दहिया ने ओलंपिक खेलों में रजत पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय रेसलर हैं। एक रुपया में पढ़ाते हैं आरके श्रीवास्तव भारत के साथ- साथ पूरी दुनिया के इंजीनियरिंग और अन्य प्रतियोगी परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स के बीच एक चर्चित नाम है. एक ऐसा शिक्षक जो सिर्फ 1 रुपया में पढ़ाते हैं. आरके श्रीवास्तव 540 गरीब स्टूडेंट्सट को इंजीनियर बना चुके हैं.

मैथमेटिक्स गुरु के नाम से मशहुर बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले आरके श्रीवास्तव देश में मैथेमैटिक्स गुरु के नाम से मशहूर हैं। खेल- खेल में जादुई तरीके से गणित पढ़ाने का उनका तरीका लाजवाब है। कबाड़ की जुगाड़ से प्रैक्टिकल कर गणित सिखाते हैं। आर्थिक रूप से सैकड़ों गरीब स्टूडेंट्स को आईआईटी, एनआईटी, बीसीईसीई सहित देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में पहुँचाकर उनके सपने को पंख लगा चुके हैं।

लगातार 12 घंटे गणित पढ़ाने की रिकॉर्ड इनके द्वारा चलाया जा रहा नाइट क्लासेज अभियान अद्भुत और अकल्पनीय है। स्टूडेंट्स को सेल्फ स्टडी के प्रति जागरूक करने लिये 450 क्लास से अधिक बार पूरी रात लगातार 12 घंटे गणित पढ़ा चुके हैं। अन्य राज्यों के शैक्षणिक संस्थाएं भी इन्हें गेस्ट फैकल्टी के रूप में अपने यहां पढ़ने को बुलाते हैं। इनकी शैक्षणिक कार्यशैली की खबरें देश के प्रतिष्ठित अखबारों में छप चुकी हैं, वर्ल्ड रिकॉर्डस में भी नाम दर्ज है, विश्व प्रसिद्ध गूगल ब्वाय कौटिल्य के गुरु के रूप में भी देश इन्हें जानता है।

यह भी देखें