Breaking News

जानें बिहार के इस शिक्षक के मुरीद क्यों हैं कई मुख्यमंत्री, खिलाड़ी, बॉलीवुड के सितारे और यहां तक कि देश के राष्ट्रपति भी

जानें बिहार के इस शिक्षक के मुरीद क्यों हैं कई मुख्यमंत्री, खिलाड़ी, बॉलीवुड के सितारे और यहां तक कि देश के राष्ट्रपति भी

पटना: सोशल मीडिया में इन दिनों एक वीडियो शेयर हो रहा है जिसे हाल ही में ओलंपिक रजत पदक विजेता रवि दहिया और हॉकी कास्य पदक विजेता सुमित वाल्मिकी ने भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया है. वीडियो बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले आरके श्रीवास्तव का है जो भारत के उन गिने-चुने शिक्षकों के तौर पर जाने जाते हैं जो पैसे के कारण किसी छात्र की प्रतिभा को विलुप्त नहीं होने देते हैं. यहीं कारण है कि देश के बॉलीवुड के सितारों से लेकर खिलाड़ी, कई बड़े मुख्यमंत्री और यहां तक कि महामहिम राष्ट्रपति तक इस शिक्षक के मुरीद हैं.

मैथेमैटिक्स गुरु के नाम से मशहूर हैं आरके श्रीवास्तव
आरके श्रीवास्तव देश में मैथेमैटिक्स गुरु के नाम से भी जाने जाते हैं. खेल-खेल में जादुई तरीके से गणित पढ़ाने का उनका तरीका लाजवाब है. ये कबाड़ की जुगाड़ से प्रैक्टिकल कर गणित सिखाते हैं. अगर गिनती में बात करें तो अब तक आरके श्रीवास्तव जी 540 गरीब स्टूडेंट्स को इंजीनियर बना चुके हैं. इनके द्वारा नाइट क्लासेज अभियान भी चलाया जा रहा जो कि अद्भुत और अकल्पनीय है.

यह भी पढ़ें: अलीगढ में पीएम मोदी ने महाराजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया, कल्याण सिंह को याद किया

यहां तक कि स्टूडेंट्स को सेल्फ स्टडी के प्रति जागरूक करने लिए इनके द्वारा 450 क्लास से अधिक बार पूरी रात लगातार 12 घंटे गणित पढ़ाया जा चुका है. बिहार के अलावा अन्य राज्यों के शैक्षणिक संस्थाएं भी इन्हें गेस्ट फैकल्टी के तौर पर अपने यहा शिक्षा देने के लिए बुलाती है. इनकी शैक्षणिक कार्यशैली की खबरें देश के प्रतिष्ठित अखबारों तक में छप चुकी है.

 

आरके श्रीवास्तव के नाम दर्ज है वर्ल्ड रिकॉर्ड
गणित गुरु आरके श्रीवास्तव जी पाइथागोरस प्रमेय को 50 से अधिक विभिन्न तरीकों से सिद्ध कर इतिहास रच चुके हैं. इसके लिए उनका नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन में भी दर्ज हो चुका है. हालंकि आरके श्रीवास्तव जी को देश विश्व प्रसिद्ध गूगल ब्वाय कौटिल्य के गुरु के रूप में भी जानता है.

क्या है “1 रुपए गुरु दक्षिणा ” प्रोग्राम
बिहार के रोहतास जिले के एक छोटे से गांव बिक्रमगंज के रहने वाले आरके श्रीवास्तव लाखो छात्रों के लिए रोल मॉडल हैं. इनके “1 रुपए गुरु दक्षिणा” वाले प्रोग्राम को बहुत से लोगों ने सराहा है. इस योजना के तहत आरके श्रीवास्तव आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को महज एक रुपए में पढ़ाते हैं. ताकि गरीब बच्चों को भी पढ़ने और अपने सपने सच करने का अवसर मिले.

सैकड़ों छात्र के सपनों को सच करने में आरके श्रीवास्तव का बड़ा योगदान
आर के श्रीवास्तव के सैकड़ों गरीब स्टूडेंट्स को आईआईटी, एनआईटी, बीसीईसीई सहित देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में पढ़ाई करने का अवसर प्राप्त हुआ. कई ऐसे स्टू़डेंट्स भी हैं जो आज देश-विदेश के प्रतिष्ठित संस्थानों में कार्यरत हैं. जिन छात्रों ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा उनके सपनों को सच कर दिखाने में आरके श्रीवास्तव का बड़ा योगदान रहा है.

यह भी देखें