Breaking News

बिहपुर प्रखंड कार्यालय के समक्ष भ्रष्टचार के खिलाफ पंचायत प्रतिनिधियों ने किया धरना-प्रदर्शन

बिहपुर (भागलपुर) : भागलपुर जिले के बिहपुर में प्रखंड कार्यालय पर कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया गया। धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता कर रहे मुखिया संघ के अध्यक्ष सह बिहपुर मध्य पंचायत के मुखिया मनोज कुमार व वार्ड सदस्य सह वार्ड संघ के अध्यक्ष रवि प्रकाश भारती ने कहा बिहपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा आए दिन पंचायत के जन प्रतिनिधियों का अपमान किया जाता है। कोई भी विकास योजना पर बातचीत करने पर कमीशन की मांग की जाती है। जो भी पंचायत प्रतिनिधि इस तरह काम नहीं करना चाहते हैं उनकी पंचायत में योजना पास नही होती है।

मंच संचालन कर रहे सामाजिक न्याय आंदोलन, बिहार के संयोजक गौतम कुमार प्रीतम व कामरेड सुधीर यादव ने कहा प्रखंड व अंचल कार्यालय दलालों व बिचौलिया का अड्डा बन गया है। सरकार के द्वारा जो भी जनता के पक्ष में योजना है उसमें बगैर भ्रष्टाचार के काम नहीं होता है। प्रत्येक योजना में लूट मची है।

सरपंच प्रमोद सिंह व सरपंच कैलाश यादव ने कहा कि बिहपुर प्रखंड मुख्यालय में लगे सीसीटीवी ही बता देगा कि यहां किस प्रकार दलालों और पदाधिकारियों का कब्जा है।

जिला परिषद बिहपुर 02 के सदस्य व राजद के प्रखंड अध्यक्ष मोइन राईन व उप प्रमुख मो एनामुल ने कहा कि बिहपुर के ईमानदार जन प्रतिनिधि व सामाजिक कार्यकर्ता ने ठान लिया है जब तक बिहपुर प्रखंड मुख्यालय को भ्रष्टाचार व दलालों से मुक्त नहीं कर लेंगे, तबतक यह आंदोलन चरणबद्ध तरीके से चलता रहेगा।
धरना-प्रदर्शन को समर्थन देने जिला परिषद प्रतिनिधि चंदन भारद्वाज व लोजपा के नेता सुरेश भगत सहित नौगछिया अनुमंडल के विभिन्न हिस्सों से सामाजिक.राजनीतिक लोग आए। सबों ने एक स्वर में कहा ये भ्रष्टा पदाधिकारियों ने जनता के योजनाओं के लाभ को अपना जागिर समझ लिया है। धरना प्रदर्शन के बाद नौगछिया के एसडीओ को ज्ञापन सौंपा गया।

धरना प्रदर्शन के माध्यम से ये मांगें रखीं गयीं –
बीडीओ-सीओ कार्यालय को भ्रष्टाचार मुक्त किया जाए।
बीडीओ सतीश कुमार को अविलंब बर्खास्त किया जाए।
स्वच्छता गृही राजीव यादव को बर्खास्त करते हुए अविलंब गिरफ्तार किया जाए।
बिहपुर प्रखंड व अंचल के तमाम योजनाओं में हो रहे लूटपाट बंद किया जाए।
बिहपुर मध्य पंचायत वार्ड नंबर 8 में पिछले कई वर्ष से आंगनबाड़ी नहीं चलती है। इसकी जांच कर दोषी पर कानून सम्मत कार्रवाई करें।

वक्ताओं में प्रमुख तौर पर मुखिया उषा सिंह निषाद, इनोद पासवान, बुलो पासवान, परवेज आलम, मो जावेद, अधिवक्ता मो कलीम, सरपंच मिथिलेश कुमार, पंकज कुमार सिंह, बहुजन स्टूडेंट्स यूनियन के अनुपम आशीष, बिहार फुले अंबेडकर मंच के नसीब रविदास, विधायक प्रतिनिधि परमानन्द राय, रिंकु मंडल, पूर्व उप सरपंच लालमोहन कुमार, वार्ड सदस्य नितेश मंडल, शंभू मंडल, विद्यानंद महतो, अशोक मंडल, मुकेश पोद्दार सहित कई लोग थे।

यह भी देखें