Breaking News

दुमका में महिला व पुरुष को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया, ग्राम प्रधान सहित अन्य पर मुकदमा दर्ज

दुमका : दुमका जिले के बड़तल्ली पंचायत के एक गांव में मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना घटी है। यह ग्राम प्रधान के फैसले के बाद एक महिला व पुरुष को निर्वस्त्र कर गांव में एक किलोमीटर तक घुमाया गया। ग्राम प्रधान ने अन्य ग्रामीणों के साथ एक महिला को अन्य पुरुष के साथ पकड़ा और उसके बाद उन्हें सजा के तौर पर निर्वस्त्र घुमाने का फरमान सुनाया।

रात में मामले की सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और दोनों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया। महिला के बयान पर ग्राम प्रधान सहित चार के खिलाफ नामजद व 50 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

जानकारी के अनुसार, बड़तल्ली पंचायत के एक गांव की एक महिला का पति तीन साल पहले जेल चला गया। इसके बाद व मजदूरी कर अपना व तीन बच्चों का भरण-पोषण कर रही थी। इसी दौरान उसका संपर्क कोल्हड़िया गांव के एक युवक से हुआ, जिसे दो बच्चे भी हैं।

दोनों की जान-पहचान अच्छी दोस्ती में बदल गयी। वह पुरुष सोमवार को महिला के घर आया था। गांव वालों ने इसकी सूचना ग्राम प्रधान को दी। उसके बाद कई लोगों ने महिला के घर पहुंच कर दोनों को पकड़ लिया। उसके बाद ग्राम प्रधान ने फैसला सुनाया कि सजा के तौर पर दोनों को निर्वस्त्र कर घुमाया जाए। इस घटना की तसवीर किसी ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दी और देर रात पुलिस को मामले की जानकारी मिली।

इसके बाद पुलिस इंसपेक्टर उमेश राम पुलिस बल के साथ गांव गए और दोनों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया। बाद में महिला के बयान पर ग्राम प्रधान व अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। पुलिस इंसपेक्टर उमेश राम ने ग्रामीणों के दोनों के बीच अवैध संबंध के आरोप को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि महिला ने उस पुरुष को अपने घर पर अपने पति के जेल में होने के केस के संबंध में मदद के लिए बुलाया था।

इस मामले को लेकर दुमका के डीसी रविशंकर शुक्ला ने कहा है कि घटना के बाद बीडीओ व सीओ को गांव भेजा गया है, पीड़िता गांव में रहती है इसलिए उसकी सुरक्षा महत्वपूर्ण है। वहीं, एसपी अंबर लकड़ा ने कहा है कि महिला के बयान पर मामला दर्ज किया गया है। जो लोग भी दोषी हैं उन्हें नहीं बख्शा जाएगा। दोषियों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित की गयी है। खबर लिखे जाने तक किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।

यह भी देखें