Breaking News

मुंबई साकीनाका रेप पीड़िता की मौत, सीएम उद्धव ने फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले की सुनवाई की कही बात

मुंबई के साकीनाका रेप पीड़िता की घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में शनिवार को इलाज के दौरान मौत हो गयी। वे पिछले दो दिन से अस्पताल में भर्ती थीं और उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। 30 वर्षीया महिला के साथ रेप के बाद बर्बरता की गयी थी।

मुंबई : मुंबई के साकीनाका रेप पीड़िता की घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में शनिवार को इलाज के दौरान मौत हो गयी। वे पिछले दो दिन से अस्पताल में भर्ती थीं और उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। 30 वर्षीया महिला के साथ रेप के बाद बर्बरता की गयी थी। बलात्कारी ने शरीर के अंदरूनी हिस्से में लोहे की रॉड डाल दी थी जिससे अधिक खून बह जाने की कारण महिला की मौत हो गयी। उस महिला के साथ हुई बर्बरता के कारण इस कांड को मुंबई व महाराष्ट्र का निर्भया कांड कहा जा रहा है।

अत्यधिक गंभीर अवस्था में महिला को वेंटिलेटर पर रखा गया था। डॉक्टर उनके उपचार में जुटे थे, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

महिला नौ सितंबर को साकीनाका के खैरानी रोड पर ऑटो में अचेत अवस्था में पड़ी मिली थीं, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। मुंबई के पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने एसीपी रैंक के अधिकारी के नेतृत्व में एक एसआइटी गठित करने की बात कही है।

पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि इस कांड का आरोपी उत्तरप्रदेश के जौनपुर का रहने वाला है। महिला रोड पर एक टेंपो में पड़ी हुई थी और कंट्रोल रूप में को इसकी सूचना मिलने के 10 मिनट बाद पुलिस मौके पर पहुंची थी।

पुलिस की शुरुआती जांच के अनुसार, शाकीनाका उपनगरीय इलाके में महिला के साथ रोड किनारे खड़ी टेंपो में रेप किया गया और उसके बाद लोहे की रॉड उनके गुप्तांग में डाल दिया गया जिससे काफी क्षति हुई। इस मामले के आरोपी को 21 सितंबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। इस जधन्य बलात्कार कांड का मुख्य आरोपी 45 वर्षीय मोहन चौहान है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने स्पीडी ट्रायल की मांग रखी है।

इस मामले का राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया है और डीजीपी को पत्र लिख कर जल्द मामले की जांच कराने की बात कही है।

यह भी देखें