Breaking News

यशवंत सिन्हा राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के साझा उम्मीदवार बने

नयी दिल्ली : विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए तृणमूल कांग्रेस के नेता यशवंत सिन्हा को अपना साझा उम्मीदवार बनाया है। 18 जुलाई 2022 को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने उनके नाम का ऐलान किया।
यशवंत सिन्हा लंबे समय तक भाजपा में रहे हैं लेकिन मोदी-शाह की जोड़ी के उदय के बाद उनका पार्टी से मतभेद हो गया और उन्होंने भाजपा छोड़ दी। यशवंत सिन्हा अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्र में वित्त व विदेश मंत्री जैसी अहम जिम्मेवारी निभा चुके हैं।

कांग्रेस मीडिया विभाग के प्रमुख जयराम रमेश ने कहा कि यशवंत सिन्हा ने सक्षम प्रशासक, संसद सदस्य और वित्त व विदेश मंत्री के रूप में देश की महत्वपूर्ण सेवा की है। रमेश ने कहा कि एक बैठक में सर्व सहमति से उनके नाम पर निर्णय लिया गया।

यशवंत सिन्हा ने तृणमूल प्रमुख व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एवं अन्य प्रमुख नेताओं से चर्चा के उपरांत इस प्रस्ताव पर सहमति दी। सिन्हा ने कहा, तृणमूल ने मुझे सम्मान और प्रतिष्ठा दिया, इसके लिए मैं ममता बनर्जी का आभारी हूं। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि उन्हें पार्टी से हटकर विपक्षी एकता के लिए काम करना चाहिए। सिन्हा ने पहले शरद पवार ने विपक्ष क राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने का प्रस्ताव ठुकरा दिया था।

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भाजपा संसदीय बोर्ड की एक अहम बैठक में शामिल हो रहे हैं। संभावना है कि भाजपा भी जल्द राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर देगी।