Breaking News

निशिकांत दुबे ने कहा सुनील तिवारी को हेमंत सोरेन झुठे केस में फंसा रहे हैं

सुनील तिवारी पर झूठा केस करने से हेमंत सोरेन अपना गुनाह नहीं छिपा सकते। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया को पता है कि सुनील तिवारी के कारण ही शिबू सोरेन जेल गए थे और उनको केन्द्रीय मंत्री पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था।

राँची पुलीस के गिरफ्त में सुनील तिवारी

राँची: गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट कर बाबूलाल के सलाहकार सुनील तिवारी पर लागए गए  दुष्कर्म के आरोप को झूठा बताया है। उन्होंने कहा है कि सुनील तिवारी पर झूठा केस करने से हेमंत सोरेन अपना गुनाह नहीं छिपा सकते। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया को पता है कि सुनील तिवारी के कारण ही शिबू सोरेन जेल गए थे और उनको केन्द्रीय मंत्री पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था। सुनील तिवारी के गिरफ्तारी को निशिकांत दुबे ने झारखंड सरकार के ताबूत का आख़िरी कील कहा है।

ज्ञात हो कि खूँटी की एक युवती ने 16 अगस्त को अरगोड़ा थाना में सुनिल तिवारी के खिलाफ दुष्कर्म की प्रथमिकी दर्ज कराई थी। लड़की का आरोप था की अशोक नगर में अपने घर पर सुनील तीवारी ने नशे के हालत में उसके साथ दुष्कर्म किया था और किसी को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी भी दी थी। इसके साथ ही सुनील तीवारी पर अनगड़ा की एक नाबालिक से बाल श्रम कराने का भी मामला दर्ज है।

इन मामलों पर  सुनील तीवारी के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया गया था। जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उन्हें 12 सितंबर को आगरा-दिल्ली हाइवे स्थित इटावा से गिरफ्तार कर लिया था। तबियत खराब होने के कारण उन्हें सैफई आयुरविज्ञान विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों की अनुमती मिलने पर उन्हें राँची लाया गया है।

राँची के अरगोड़ा थाना में पुलिस ने सुनील तिवारी से पूछताछ करने के बाद उन्हें एजेसी विशाल श्रिवास्तव की आदालत में प्रस्तुत किया  जहां से उन्हें 14 दिन के न्यायिक हिरास्त में होटवार स्थित बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा भेज दिया गया है।

यह भी देखें