झारखंड को राजनीतिक दलो ने बना दिया है प्रयोगशाला

मोर्चा राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मिलेगा: राजेन्द्र

रांची । सदान मोर्चा की बैठक मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद के अध्यक्षता में संपन्न हुई। जहां फरवरी मे होने वाली रैली की तैयारी की चर्चा की गई। वक्ताओं ने सदानो की हो रही लगातार उपेक्षा पर नाराजगी जाहीर की और आंदोलन को तेज करने की बात कही। सदान मोर्चा के केन्द्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद ने अपने संबोधन मे कहा कि सदानो के पास सिर्फ एक अधिकार बचा है, जो है सिर्फ वोट देने का। उन्होंने कहा कि झारखण्ड राजनीति दलो के लिए प्रयोगशाला बन गया है। प्रसाद ने उदाहरण देते हुए कहा कि काग्रेंस पार्टी प्रदेश अध्यक्ष बाहर के आदमी को बना दिया जबकि झारखंड मे कई सदान और आदिवासी के बड़े नेता कांग्रेस में हैं। प्रसाद ने कहा कि सभी राजनीति पार्टीर्यां खासकर सदानो की घोर उपेक्षा कर रही है। चाहे राज्यसभा मे भेजने की बात हो या अन्य संस्थान मे प्रतिनिधित्व देने की बात हो। प्रसाद ने बैठक मे जानकारी देते हुए कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमीत शाह के रांची प्रवास के दौरान उन्होने मुख्यमंत्री के उपस्थिति मे गैर अनुसूचित जिलो मे जिला के ही अभ्यार्थियों से तृतीय और चतुर्थ वर्ग के पदों को भरने का आग्रह किया था। नियुक्ति का आधार अनुसूचित क्षेत्र के जिलो की तरह ही गैर अनुसूचित जिलो मे करने की मांग रखी थी। प्रसाद ने कहा कि हमे इस बात का विश्वास है कि राज्य के मुखिया होने के नाते मुख्यमंत्री इस गंभीर विषय को गंभीरता से लेते हुए राज्य के छात्र छात्रायों के भविष्य की रक्षा करेंगें। प्रसाद ने यह भी कहा कि सदानो की समस्या राज्य और केन्द्र सरकार से जुड़ा हुआ कुछ मामले हैं इसको लेकर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मिलकर उन्हें अवगत कराने की बात कही। लख्मी नारायण गंझू ने कहा कि सेटल्ड लॉव का बहाना बनाकर ओ बीसी औा एससी को जेपीएससी के द्वारा पीटी मे आरक्षण नही दिया जा रहा है जो गलत है। बाद मे सर्व सम्मति से निर्णय हुआ की पहला चरण मे दक्षिण छोटानागपुर के सभी जिला मुख्यालय मे सदान मोर्चा के जिला स्तर पर सम्मेलन करने का निर्णय लिया गया। दूसरा चरण मे संथाल परगना तीसरा चरण उत्तरी छोटानागपुर चौथा चरण कोल्हान और पांचवें चरण मे पलामू मे सम्मेलन किया जाएगा। जिसमे मोर्चा के केन्द्रीय अध्यक्ष सहित केन्द्रीय पदाधिकारी शामिल होंगें। बैठक मे मोर्चा अध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद के अलावे डॉ अनील मिश्रा, डॉ जर्नादन प्रसाद, डॉ सुदेश कुमार साहू, डॉ रामप्रसाद, कश्यप सरधु महतो, बासुदेव प्रसाद, विशाल कुमार, तालेश्वर महतो, लक्ष्मी नारायण गंझू, नीरज कुमार साहू, अरविन्द साहू ,दुर्गा चरण महतो, कमलेश प्रमाणिक, गणेश कुमार, उज्जवल कुमार, संतोष कुमार महतो, राजीव मंडल, हरिशंकर कौशल चौधरी, श्याम सिंह बिजय साहू आदि उपस्थित थे।

    Tags:

यह भी देखें