राजनीति

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पंजाब कांग्रेस विवादों से जूझ रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ ग्रहण से पहले पंजाब कांग्रेस में एक नया विवाद शुरू हो गया है। यह विवाद प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी हरिश रावत के बयान से शुरू हुआ, जिसमें उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव नवजोत सिंह सिद्धू के नेतत्व में लड़े जाएंगे।

कैप्टन अमरिंदर सिंह के त्यागपत्र देने के बाद कांग्रेस में नए मुख्यमंत्री को लेकर चली उठापटक के बाद एक दलित चेहरे के रूप में चन्नी का नाम मुख्यमंत्री के रूप में तय किया गया है। वे तीसरी बार विधायक बने हैं।

रांची: बिहार विधानसभा के सदस्य और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि खून और पसीने से सींचने वालों को पार्टी में जगह मिलेगी। पार्टी को बूथ स्तर तक मजबूत करना है। इसके लिए कार्यकर्ता और नेता जुट जाएं। वे रविवार को रांची के कार्निवल हॉल में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में बोल रहे थे। उन्होंने

तेजस्वी यादव रविवार को हेमंत सोरेन से मुलाकात करेंगें एवं दिवडी स्थित राजद के कार्यालय में संगठन के कार्यकर्ता सम्मेलन में भाग लेंगें। वे झरखण्ड राजद को मजबूत करने के लिये आए हैं।

कोलकाता : राजनीति छोड़ने की घोषणा करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद बाबुल सुप्रियो ने तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता ले ली है। इसके बाद उन्होंने कहा है कि वह बंगाल के लोगों की सेवा करने के लिए तृणमूल में आए हैं। शनिवार अपराह्न के समय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने उन्हें

सुनील तिवारी पर झूठा केस करने से हेमंत सोरेन अपना गुनाह नहीं छिपा सकते। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया को पता है कि सुनील तिवारी के कारण ही शिबू सोरेन जेल गए थे और उनको केन्द्रीय मंत्री पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था।

राज्य सरकार पर लगाया आरोप, कहा सरकार महापौर/अध्यक्ष के संवैधानिक शक्तियों को गलत तरीके से परिभाषित कर खत्म करने का प्रयास कर रही है।

पश्चिम सिंहभूम के मझगांव विधानसभा क्षेत्र के जोजोबेड़ा गांव की है। जहां आज तक सड़क नहीं बनी है। एम्बुलेंस नहीं मिलने पर महिला को उनके परिजनों ने 1 किलोमीटर दूर तक उठाकर अस्पताल ले गये ।

गुजरात भाजपा विधायक दल की बैठक रविवार को तीन बजे दोपहर गांधीनगर में होगी जिसमें पार्टी के नए नेता का चयन होगा जो मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। मालूम हो कि कल एक नाटकीय घटनाक्रम में अचानक विजय रूपाणी ने मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया।

अहमदाबाद : गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रूपाणी ने शनिवार, 11 सितंबर 2021 की दोपहर इस्तीफा दे दिया। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राजभवन जाकर राज्यपाल आचार्य देवव्रत को अपना इस्तीफा सौंपा। नरेंद्र मोदी के 2014 में गुजरात का मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री बनने के बाद राज्य में अबतक दो सीएम कार्यकाल पूरा करने से पहले