अमित शाह से हेमंत सोरेन के नेतृत्व में एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल ने नई दिल्ली में मुलाकात की

देश में सालों से पिछडे वर्ग के लोग समाज का दंश झेल रहें हैं। सभी वर्गों के हिस्सेदारी के आधार पर भागिदारी जातीय जनगणना से ही प्राप्त होगी।  इससे ही राजनीतिक और आर्थिक स्थिती का सही आकलन भी हो सकेगा।

हेमंत सोरेन के नेतृत्व में अमित शाह से मुलाकात करते सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल

झारखण्ड: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में रविवार को झारखण्ड के एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह से जातीय आधार पर जनगणना के लिए अनुरोध किया। प्रतिनिधिमंडल ने अमित शाह के नई दिल्ली के आवास पर जाकर उनसे मुलाकात की एवं इससे संबंधित ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल का कहना है कि देश में सालों से पिछडे वर्ग के लोग समाज का दंश झेल रहें हैं। सभी वर्गों के हिस्सेदारी के आधार पर भागिदारी जातीय जनगणना से ही प्राप्त होगी।  इससे ही राजनीतिक और आर्थिक स्थिती का सही आकलन भी हो सकेगा।

अमित शाह ने प्रतिनिधिमंडल के साथ जातीय जनगणना में होने वाले तकनीकी परेशानियों पर चर्चा किया । साथ ही राज्य में नक्शलवाद की स्थिती भी जानी एवं मुख्यमंत्री से बारिश और फसल की भी जानकारी ली।

प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि जाति आधारित जनगणना कराए जाने से देश के नीति निर्धारण में कई तरह के फायदे प्राप्त हो सकेंगें इससे पिछड़े वर्ग के लोगों को आरक्षण की सुविधा उपलब्ध कराने में सहायता प्राप्त होगी। नीति निर्माताओं को पिछड़े वर्ग के लोगों के उत्थान के निमित्त बेहतर नीति-निर्धारण एवं क्रियान्वयन में इसके आंकड़े मदद करेंगे। ये आंकड़े आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक विषमताओं को भी उजागर करेंगे जिससे लोकतांत्रिक तरीके से इनका समाधान निकाला जा सकेगा। लक्ष्य आधारित योजनाओं में सुयोग्य लाभुकों को शामिल करने तथा नहीं करने में होने वाली त्रुटियों को कम करने में भी यह सहायक सिद्ध होगा।

 

मुख्यमंत्री के नेतृत्व वाले इस शिष्टमंडल में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो, राष्ट्रीय जनता दल के सत्यानंद भोक्ता, माले के विनोद कुमार सिंह, एनसीपी के कमलेश कुमार सिंह, सीपीआई के भुवनेश्वर प्रसाद मेहता, मासस के अरुण चटर्जी एवं सीपीआई(एम) सुरेश मुंडा शामिल थे।

यह भी देखें