कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस छोड़ने का किया ऐलान, भाजपा में शामिल होने से किया इनकार

पंजाब के मुख्यमंत्री पद से हटने को मजबूर किए गए सीनियर कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस छोड़ने का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वे भाजपा में शामिल नहीं होंगे।

नयी दिल्ली : पंजाब के मुख्यमंत्री पद से हटने को मजबूर किए गए सीनियर कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस छोड़ने का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वे भाजपा में शामिल नहीं होंगे। हालांकि अमरिंदर के लगातार भाजपा के निकट जाने के संकेत मिल रहे हैं। ऐसे में न तो इस संभावना को खारिज किया जा सकता है कि वे भाजपा में शामिल नहीं होंगे और न ही इस संभावना को वे अपनी पार्टी बनाकर भाजपा से गठजोड़ कर अगले साल विधानसभा चुनाव लड़ें।

कल गृहमंत्री अमित शाह से कैप्टन की मुलाकात को लेकर उनके राजनीतिक सलाहकार ने बयान दिया था कि उन्होंने कृषि कानून को वापस लेने की मांग की है और किसान आंदोलन पर चर्चा की है।

उधर, कैप्टन को रोकने के लिए कांग्रेस ने अंबिका सोनी और कमलनाथ को सक्रिय किया है। इन दोनों नेताओं के कैप्टन अमरिंदर सिंह से अच्छे रिश्ते हैं। अंबिका सोनी खुद भी पंजाब से आती हैं और कैप्टन के इस्तीफे के बाद उन्हें सीएम पद की पेशकश की गयी थी जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था।

हालांकि सूत्रों का कहना है कि कैप्टन ने इन दोनों नेताओं को अपने अपमान का हवाला देते हुए कदम पीछे खींचने से इनकार कर दिया है। कैप्टन ने अपने इस्तीफे व राजनीतिक अस्थिरता की वजह प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए क्रिकेट व लाफ्टर शो से राजनीति में आए नवजोत सिंह सिद्धू को बताया था। उन्होंने सिद्धू को पंजाब व देश की सुरक्षा के लिए भी खतरा बताया था।

 

 

यह भी देखें