Breaking News

धमकी देने वाला नाबालिग निकला महेंद्र सिंह धोनी का फैन

रांची : दुनिया भर में कितने सारे ऐसे लोग है जो क्रिकेट (Cricket) के क्रेजी फैंस (Crazy Fans) है. क्रिकेट देखना और उसे एन्जॉय करना एक अलग ही पसंदीदा चीज़ों में से एक है. मगर इस वर्ष कोरोना से जूझ रहें देश भर को लॉकडाउन का सामना करना पड़ा. जिसमें सारे कार्य रोक दिए गए. ऐसे में अप्रैल माह में होने वाले आईपीएल मैच (IPL Match) के डेट्स भी कैंसिल कर दिए गए. जिसका इंतज़ार भारतवासी साल भर करते हैं.

अनलॉक में दी कुछ रियायतों के बाद जब देश खोलने की प्रक्रिया शुरू हुई, तब आईपीएल मैच भी खेलने की मंज़ूरी दे दी गयी। लम्बे इंतज़ार के बाद आईपीएल के फैंस को अपनी पसंदीदा टीम (Favourite Team) और चहेते खिलाड़ियों Favourite Players) से काफी उम्मीद थी. लेकिन क्या इसे अपना जूनून (Passion) बनाते हुए किसी को धमकी देना यह सही है. क्रिकेट का फैन होना कोई बुरी बात नहीं है. लेकिन अपने जूनून को दुसरो पर थोपना और उसके लिए उनकी ही निंदा करना यह गलत है.

गौरतलब है आईपीएल में धोनी के मैच न जीत पाने के बाद 10 अक्टूबर को सोशल मीडिया पर उनके परिवार को लेकर अश्लील टिप्पणी की गयी और धमकी दी गयी थी. जिसके बाद धमकी देने वाले को पुलिस ने गुजरात (Gujarat) से गिरफ्तार कर लिया है. धमकी देने वाला नाबालिग है और कक्षा 12वीं का छात्र है. दरअसल धमकी दिए जाने के बाद जांच की गयी. जिस दौरान उसका आइपी एड्रेस गुजरात का मिला था. जहा से गुजरात पुलिस ने उसे 11 अक्टूबर को हिरासत में ले लिया।

जिसके बाद अगले ही दिन यानी कि 12 अक्टूबर को रांची पुलिस देर रात गुजरात पहुंची। जहाँ से उसे अदालत में पेश कर ट्रांजिट रिमांड मिलने पर के बाद बुधवार को रांची लेकर आया गया. जिसके बाद उसकी कोरोना जांच कराई गयी. कोरोना रिपोर्ट में नेगेटिव पाएं जाने के बाद उसे संप्रेषण गृह भेज दिया गया. बता दें जिस मोबाइल से इंस्टाग्राम (Instagram) पर मैसेज भेजा गया था, गुजरात गए मांडर सर्किल इंस्पेक्टर नारायण प्रजापति व रातू थाना के सिपाही लालदेव राउतिया ने उसे नाबालिग के पास से जब्त कर लिया है. वहीं इस सम्बन्ध में नाबालिग के ऊपर 11 अक्टूबर को धरा-506, 67/67 ए के तहत कांड संख्या -322/20 दर्ज की गयी है.

बताते चलें ग्रामीण एसपी (SP) नौशाद आलम के अनुसार मामले को लेकर नाबालिग का कहना है कि मैं बचपन से धोनी का फैन हूँ. आईपीएल में उनके लगतार ख़राब प्रदर्शन के कारण आक्रोश में धमकी दे दी थी. इस बात का मुझे अफ़सोस है. वहीं इस बीच एसपी ने बताया की सट्टा के मुद्दे पर भी जाँच चल रही है. बता दें गुजरात के कच्छ में नाबालिग के पिता का व्यवसाय है.

यह भी देखें