Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

टूलकिट मामला : बांबे हाइकोर्ट से निकिता जैकब को तीन हफ्ते की अग्रिम जमानत मिली

0

- Sponsored -

- sponsored -

मुंबई : किसान आंदोलन को लेकर ट्विटर पर टूल किट शेयर करने के मामले में गिरफ्तार की गयी निकिता जैकब को बांबे हाइकोर्ट से जमानत मिली गयी है। अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग द्वारा किसान आंदोलन का समर्थन किए जाने और उसको लेकर ट्विटर पर एक टूलकिट शेयर करने के बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू की थी।

इस मामले में पुलिस ने पहले पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार किया था और निकिता जैकब व शांतनु की इस मामले में तलाश कर रही थी। दोनों की गिरफ्तारी नहीं हो पाने की स्थिति में उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया।

- Sponsored -


निकिता जैकब पेशे से वकील हैं। वे मुंबई की हैं। उनका ट्विटर एकाउंट फिलहाल लाॅक कर दिया गया है, हालांकि उस पर वकील के रूप में उनका परिचय लिखा गया है। इसके साथ ही वे पर्यावरण एक्टिविस्ट व सामाजिक अधिकार कार्यकर्ता भी हैं। वे एक लेखिका व गायिका होने का भी दावा करती हैं।

पुलिस की विशेष शाखा ने उनके घर की तलाशी ली थी और उनके इलेक्ट्रानिक गैजेट की जांच की थी। न्यूज एजेंसी एएनआइ ने इस मामले में खबर दी थी कि पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन के संस्थापक धालीवाल ने कनाडा में रहने वाले अपने सहयोगी पुनीत के जरिए निकिता जैकब से संपर्क किया था। इसका उद्देश्य गणतंत्र दिवस के पहले ट्विटर पर एक अभियान खेत करना था। गणतंत्र दिवस से पहले एक जूम मीटिंग हुई थी, जिसमें धालीवाल, निकित जैकब, दिशा रवि व अन्य शामिल हुए थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored