Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

हवा से भी फैलता है कोरोनावायरस, वैज्ञानिक टीका विकसित करने में जुटे, पानी की तरह बहाए जा रहे पैसे

- sponsored -

- Sponsored -

नई दिल्ली: चीन सहित दुनियाभर में कोरोनावायरस ने तहलका मचा रखा है। चीन में अबतक 800 से अधिक लोगों की मौत की पुष्टि की जा चुकी है, जबकि 37,000 से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हैं।

अब खबर यह है कि कोरोनावायरस से निपटने के लिए अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया सहित दुनियाभर की कई देशों द्वारा इसका टीका विकसित करने का अभियान तेज कर दिया है। लाखों डॉलर के खर्च कर नवीनतम टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल वैज्ञानिक प्रयोगों में लाया जा रहा है, ताकि, इस वायरस के टीका को जल्द से जल्द विकसित किया जा सके। 

- Sponsored -

- Sponsored -

इधर, शंघाई के अधिकारियों ने कोरोनावायरस को भयावह करने वाला खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि यह वायरस अब हवा में मौजूद सूक्ष्म बूदों में मिलकर संचरण करने लगा है। इसके अलावा यह संक्रमण हवा के ज़रिये भी फ़ैल रहा है। इससे पहलेल यह संक्रमण सिर्फ डायरेक्ट ट्रांसमिशन या फिर कॉन्टैक्ट ट्रांसमिशन से ही फैलने की पुष्टि की गयी थी।

ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने उम्मीद जताया है कि टीका छह महीने के भीतर तैयार हो जायेगी। ऑस्ट्रेलिया के क्वीनस्लैंड विश्विद्यालय के प्रमुख रिसर्चर का कहना है कि वैज्ञानिकों के ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। दुनियाभर में इस दिशा में काम होने की बात जानकर उन्हें तसल्ली मिली। लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि जिस तेजी से वायरस फ़ैल रहा है, उस हिसाब छह महीने का समय बहुत ज्यादा है। 

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -