Breaking News

कोरोना से जूझ रहे केरल में निपाह वायरस से बढाई चिंता, 12 साल के बच्चे की मौत

कोरोना से जूझ रहे दक्षिणी राज्य केरल में अब निपाह वायरस (Nipah virus) के लेकर चिंताएं उभर आयी हैं। केरल के कोझीकोड जिले में एक 12 वर्षीय बच्चे की निपाह वायरस संक्रमण जैसे लक्षण के बाद उसे पहले तीन तारीख को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया और फिर वहां से मेडिकल कॉलेज में ले जाया गया, लेकिन फिर निजी अस्पताल ले जा गया। उसकी तबीयत बिगड़ने के बाद उसे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। बच्चे की मौत रविवार सुबह पांच बजे हुई है।

प्रतीकात्मक फोटो।

Nipah virus raises concern in Kerala

 

A case of Nipah virus has been detected in the Kozhikode district of Kerala. The Central Government has rushed a team of National Centre for Disease Control (NCDC) to the State to provide technical support : Government of India – ANI Report

तिरुवनंतपुरम : कोरोना से जूझ रहे दक्षिणी राज्य केरल में अब निपाह वायरस (Nipah virus) के लेकर चिंताएं उभर आयी हैं। केरल के कोझीकोड जिले में एक 12 वर्षीय बच्चे की निपाह वायरस संक्रमण जैसे लक्षण के बाद उसे पहले तीन तारीख को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया और फिर वहां से मेडिकल कॉलेज में ले जाया गया, लेकिन फिर निजी अस्पताल ले जा गया। उसकी तबीयत बिगड़ने के बाद उसे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। बच्चे की मौत रविवार सुबह पांच बजे हुई है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने उसके सैंपल जांच के बान कन्फर्म (Nipah virus first case in kerala) किया है उसमें वायरस के ही लक्षण थे।

उसकी मौत के बाद चिंता बढ गयी हैं। मालूम हो कि कोरोना का कहर केरल में अभी जारी है। देश के कुल कोरोना मामलों में एक तिहाई अकेले केरल के हैं, ऐसे में निपाह वायरस के लक्षण से परेशानी और बढ गयी है।

बच्चे में निपाह वायरस जैसे लक्षण पाये जाने के बाद केरल की सरकार हरकत में आ गयी है और शनिवार की रात स्वास्थ्य अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय बैठक हुई है। इस बीच केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जार्ज ने कहा है कि हालात को संभालने के लिए टीमों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि संपर्क ट्रेसिंग व अन्य उपाय पहले ही आरंभ किए जा चुके हैं। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया है कि घबराने की नहीं सावधानी की जरूरत है।

स्वास्थ्य मंत्री वीणा जार्ज ने कहा है कि कल जिले के मंत्रियों व संबंधित अधिकारियों के साथ मीटिंग की गयी। हमने तय किया गया है कि टीम इस मामले को देखेगी। वे खुद कोझीकोड जाकर हालात का जायला लेंगी।

 

यह भी देखें