गिरिडीह की गायिका नाज़िया चाहत के गीतों को आवाज देंगे बॉलीवुड के महशूर गायक कुमार सानू

सपने देखना हर किसी के बस में है, उसे पूरे करना शायद किसी-किसी के बस में। क्योंकि, उन सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करती होती है, सब्र बनाए रखना होता है और निराशा के भंवर में फंसने से भी बचना होता है।

नाज़िया चाहत.

गीतों का बोल है, अश्कों के समंदर में लफ्ज़ मेरे डूब गए

रांची : सपने देखना हर किसी के बस में है, उसे पूरे करना शायद किसी-किसी के बस में। क्योंकि, उन सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करती होती है, सब्र बनाए रखना होता है और निराशा के भंवर में फंसने से भी बचना होता है। इसके बाद ही कुद सपने हकीकत बनकर आईने में झलकते हैं। इसी तरह अपने सपनों को हकीकत में बदल रही हैं गिरिडीह जिले के गांवा प्रखंड की नाजिया चाहत।

नाजिया को बचपन से ही संगीत का शौक रहा है। लेकिन उनकी पारिवारिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि वह किसी संस्थान से संगीत का प्रशिक्षण ले सकें। बावजूद इसके आज उनकी आवाज बॉलीवुड तक पहुंच चुकी है। नाज़िया अपनी मधुर आवाज से संगीत की दुनिया में कदम रखकर अपने गांव, अपने जिले और झारखंड का नाम रोशन कर रही हैं और अपने मुकाम में सफल होती नजर आ रही हैं।

जल्द ही एक हिंदी एल्बम मेरे हमसफर की रिकॉर्डिंग होने जा रही है, जिसमें संगीतकार नौशाद अली राहत, बॉलीवुड के महशूर गायक कुमार सानू, साधना सरगम, तुफैल कुरैशी इस एल्बम में अपनी मधुर आवाज देंगे। गीत को नौशाद खानए अभय और नाज़िया चाहत ने लिखी है।

यह गीत ए4यू मूवीज़ के बैनर तले तैयार हो रहा है। इसके प्रोड्यूसर डॉ एजाज समी हैं। उन्होंने कहा, छह गानों का यह एल्बम है जो दिग्गज गायक हैं उनके साथ-साथ जो नए सिंगर है तूफैल कुरैशी के साथ भी काम करने का अनुभव अच्छा जा रहा है।

ए4यू मूवीज की यह पहली प्रस्तुति होगी। पीआरओ कुलदीप चौरसिया इसका प्रचार. प्रसार करेंगे।

यह भी देखें