Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

बिहार चुनाव की बढी सरगर्मी तो लालू से मिलने वालों का लगने लगा तांता, सुरक्षा में तीन मजिस्ट्रेट किए गए तैनात

0

- Sponsored -

- sponsored -

रांची : बिहार विधानसभा चुनाव से जुड़ी गतिविधियों का एक प्रमुख केंद्र रांची भी बना हुआ है. इसकी वजह है रांची में राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का होना. चारा घोटाला मामले में जेल की सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव इलाज के लिए रिम्स लंबे अरसे से हैं. बीते कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण से उन्हें बचाने के लिए डायरेक्टर के बंगले जिसे केली बंगला कहते हैं, वहां रखा गया है.

रिम्स में उनसे हर सैकड़ों लोग बिहार से मिलने आ रहे हैं. आने वाले अपने साथ अपना बायोडाटा लेकर आते हैं. वे किसी तरह चाहते हैं कि लालू प्रसाद यादव से एक मुलाकात हो जाए और टिकट की दावेदारी कर दें. हालांकि अन्य प्रदेशों से आने वालों के लिए सख्त क्वारंटीन नियम होने के कारण आसपास लगे कैमरे से वे बचते भी हैं.

- Sponsored -

मीडिया में इस आशय की खबरें छपने के बाद व विपक्षी भाजपा द्वारा इसे तूल दिए जाने के बाद जेल प्रशासन ने रांची जिला प्रशासन को पत्र लिख यह मांग की थी कि लालू प्रसाद यादव को रिम्स में जहां रखा गया है, वहां मजिस्ट्रेट तैनात किए जाएं. पत्र में यह भी कहा गया था कि वहां तैनात पुलिस अधिकारी अपनी ड्यूटी अच्छे से नहीं कर रहे हैं. ऐसे में मजिस्ट्रेट की तैनाती आवश्यक है. ऐसे में अब रांची जिला प्रशासन ने केली बंगला में तीन मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए हैं.

वहीं, हाइकोर्ट में इस मामले में एक याचिका दायर कर लालू प्रसाद यादव को फिर से जेल भेजे जाने की मांग की गयी है. जदयू प्रवक्ता व बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार ने भी बयान दिया है कि लालू को फिर से जेल भेजा जाए. वहीं, लालू ने इस उम्मीद में याचिका दायर की है कि उन्हें आने वाले दिनों में जमानत मिल जाए.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored