Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

#Kumkum मशहूर एक्ट्रेस कुमकुम का 86 साल की उम्र में निधन, बिहार में हुआ था जन्म

0

- sponsored -

- Sponsored -

मुंबई : हिंदी फिल्मों की पुराने जमाने की मशहूर अभिनेत्री कुमकुम का मंगलवार को मुंबई में निधन हो गया. वे 86 साल की थीं. उनके निधन पर मशहूर एक्टर जगदीप के बेटे नावेद जाफरी ने ट्वीट कर जानकारी दी है. उन्होंने लिखा है हमने एक और रत्न खो दिया, मैं बचपन से इन्हें जानता था, वह हमारे लिए परिवार थीं, एक अच्छी इंसान, भगवान आपकी आत्मा को शांति दें, कुमकुम आंटी.


बहुत कम लोगों को यह ज्ञात होगा कि कुमकुम का संबंध बिहार से था. वे बिहार के शेखपुरा जिला में जन्मीं थीं. कुमकुम ने पहली भोजपुरी फिल्म गंगा मैया तोहे पियारी चढाइबो में काम किया था. यह फिल्म 1963 में आयी थी. इस फिल्म के गीत आज भी बहुत मशहूर हैं.

- Sponsored -

- Sponsored -

उन्होंने अपने लंबे फिल्मी कैरियर में 100 से अधिक फिल्मों में काम किया, जिसमें 1957 में आयी मशहूर फिल्म मदर इंडिया भी शामिल थी. उन्होंने इसके अलावा सन आफ इंडिया, मिस्टर एक्स बांबे, कोहिनूर, श्रीमान फंटूश आदि फिल्मों में काम किया. कुमकुम वृद्धावस्था जनित बीमारियों से ग्रस्त थीं. आज सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली.

शेखपुरा जिले के हुसैनाबाद में 22 अप्रैल 1934 को कुमकुम का जन्म हुआ था. वे फिल्मों में 1954 से 1973 तक एक्टिव रहीं. कुमकुमा गुरुदत्त से तलाकशुदा थीं और उन्होंने सज्जाद अकबर खान से शादी की थी. कुमकुम ने शादी के बाद फिल्में छोड़ दी थीं.

उन पर फिर 1954 में आयी गुरुदत्ता की फिलम आर पार का फेमस गीत कभी आर कभी पार लगे तीरे नजर फिल्माया गया था. इसके फिल्माने की कहानी भी दिलचस्प है. गुरुदत्त फिल्म में इस गीत को अपने दोस्त जगदीप पर फिल्माना चाहते थे, लेकिन तभी उन्हें यह आइडिया आया कि किसी फीमेल आर्टिस्ट पर इसे फिल्माया जाया. छोटा गीत होने के कारण कोई अभिनेत्री तैयार नहीं हुई तब कुमकुम इसके लिए राजी हुईं और यह काफी सफल रहा. बाद में 1957 में उन्हें फिल्म प्यासा में छोटा किरदार मिला. 1956 में आयी फिल्म सीआइडी का गीता दत्ता का गाया हुआ फेमस गीत यह है बंबई मेरी जान उन्हीं पर फिल्माया गया था.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -