Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

कंगना राणावत ने मुंबई के लिए रवाना होने से पहले मंदिर में की पूजा-अर्चना, सामना ने लिखा कड़ा लेख

0

- sponsored -

- Sponsored -

मंडी/मुंबई : महाराष्ट्र सरकार से भिड़ने वाली अभिनेत्री कंगना राणावत बुधवार की सुबह हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले स्थित अपने गांव से मुंबई के लिए रवाना हो गयीं. रास्ते में उन्होंने हमीरपुर जिले के कोठी इलाके में एक मंदिर में पूजा की. उनके साथ उनकी बहन व मैनेजर रंगोली चंदेल भी नजर आयीं. उसके बाद कंगना रोड मार्ग से चंडीगढ रवाना हुईं जहां से वे विमान से मुंबई जाएंगी. कंगना राणावत को महाराष्ट्र व मुंबई नहीं आने की चेतावनी दी गयी है. उनकी सत्ताधारी शिवसेना के नेता संजय राउत से मीडिया के माध्यम से तीखी बहस हुई है.

कंगना जब मंदिर में पूजा कर रही थीं तो उनकी सुरक्षा में ब्लैक कैट कमांडो भी दिखे. केंद्र सरकार ने उन्हें वाइ प्लस सुरक्षा प्रदान की है. मालूम हो ड्रग रैकेट्स पर सवाल उठाने वाली कंगना राणावत को संजय राउत ने हरामखोर लड़की कहा था. महाराष्ट्र की शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कंगना के ड्रग कनेक्शन की भी जांच करवाने का ऐलान किया है. वहीं, बीएमसी के अफसरों ने उनके कार्यालय का जायजा लिया है और कंगना के आरोप के अनुसार उसे तोड़ने की कार्रवाई करने वाले हैं.

- Sponsored -


कंगना राणावत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद विभिन्न लोगों पर लगातार सवाल उठाती रही हैं. वहीं, शिवसेना के मुखपत्र सामना में आज लेख लिख कर कंगना की निंदा की गयी है. उसमें लिखा गया है कि हिंदुत्व और संस्कृत का धर्म और 106 शहीदों के त्याग का अपमान किया गया तथा ऐसा अपमान करके छत्रपति शिवराय के महाराष्ट्र पर नशे की पिचकारी फेंकने वाले व्यक्ति को केंद्र सरकार विशेष सुरक्षा की पालकी का सम्मान दे रही है. अहमदाबाद, गुड़गांव, लखनऊ, वाराणसी, रांची, हैदराबाद, बेंगलुरु और भोपाल जैसे शहरों के बारे में अगर कोई अपमानजनक बयान देता तो केंद्र ने उसे वाई सुरक्षा की पालकी दी होती क्या. यह महाराष्ट्र के भाजपाई स्पष्ट करें.


सामना में यह भी लिखा गया है राजनीतिक एजेंडे को सामने लाने के लिए देशद्रोही पत्रकार और सुपारीबाज कलाकारों के राजद्रोह का समर्थन करना भी हरामखोरी ही है.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored